जम्मू-कश्मीर में शनिवार से शुरू होकर 21 तक रहेगा मौसम खराब, भारी बर्फबारी व बारिश की संभावना

श्रीनगर। कश्मीर संभाग शनिवार देर शाम से भारी बर्फबारी की संभावना के चलते तैयार है। इसी बीच घाटी में रात का तापमान शून्य से ऊपर चला गया है। श्रीनगर में मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि शनिवार रात से जम्मू-कश्मीर और आसपास के इलाकों में बारिश का दौर शुरू होने की संभावना है और 21 फरवरी की दोपहर तक जारी रहेगा। इस वर्ष जम्मू-कश्मीर में लंबे समय तक शुष्क मौसम रहा है 28 जनवरी से 3 फरवरी के बीच केवल दो बार हल्की से मध्यम बर्फबारी हुई है।

पिछले दौर की तुलना में इस बार मौसम का पूर्वानुमान तीव्र होने की उम्मीद है। मौसम विभाग श्रीनगर के निदेशक मुख्तार अहमद ने कहा कि 17 फरवरी की दोपहर तक आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे जिसके बाद मौसम की गतिविधि शुरू होने की उम्मीद है, जिससे देर रात तक ऊपरी इलाकों में हल्की बर्फबारी होगी। उन्होंने कहा कि कश्मीर के विभिन्न हिस्सों के मध्य और ऊपरी इलाकों में 18 फरवरी को उत्तर, उत्तर-पश्चिमी, मध्य और दक्षिण कश्मीर के अलग-अलग ऊंचे इलाकों में भारी से बहुत भारी बर्फबारी होने की संभावना है।

दक्षिण कश्मीर के मौसम विभाग के निदेशक ने कहा कि 19-20 फरवरी तक अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश, बर्फबारी की संभावना है। मैदानी और निचले इलाकों में कुपवाड़ा, बारामूला, बांदीपोरा, गांदरबल, बडगाम और जिलों के मध्य और ऊंचे इलाकों में भारी से बहुत भारी बर्फबारी की संभावना है। 21 फरवरी को दोपहर या देर शाम तक कई स्थानों पर रुक-रुक कर हल्की से मध्यम बर्फबारी होने की संभावना है और उसके बाद धीरे-धीरे सुधार होगा।

जम्मू में 18 से 21 फरवरी तक मैदानी इलाकों में गरज, चमक के साथ रुक-रुक कर हल्की से मध्यम बारिश और रामबन, पुंछ, डोडा और किश्तवाड़ के अलग-अलग ऊंचे इलाकों में भारी बर्फबारी के साथ मैदानी इलाकों में हल्की से मध्यम बर्फबारी की भी संभावना है।
इसी बीच खराब मौसम के कारण ऊंचे इलाकों और सिंथन दर्रे, मुगल रोड, साधना, राजदान दर्रे और ज़ोजिला जैसे महत्वपूर्ण दर्रों की सड़कें अस्थायी रूप से बंद हो सकती हैं। मौसम विभाग के निदेशक अहमद ने कहा कि यात्रियों को तदनुसार योजना बनाने की सलाह दी जाती है जबकि किसानों को उपरोक्त अवधि के दौरान सिंचाई और उर्वरक का उपयोग रोकने और बगीचों से अतिरिक्त पानी निकालने की सलाह दी जाती है। मौसम प्रणाली पांच दिनों की बारिश के दौरान दिन के तापमान में भी महत्वपूर्ण गिरावट लाएगी।

इसी दौरान भारी बर्फबारी के पूर्वानुमान के मद्देनजर, संभागीय आयुक्त कश्मीर ने शुक्रवार को सभी उपायुक्तों को किसी भी स्थिति और चुनौतियों से निपटने के लिए पर्याप्त जनशक्ति, संसाधनों और मशीनरी के साथ तैयारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इस बीच अधिकांश स्थानों पर रात का तापमान बढ़ गया और श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने बताया है कि पहलगाम और गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान क्रमश 0.7 और शून्य से नीचे 1.2 डिग्री नीचे रहा।