जल्द ही राम भक्त बन जाएंगे ओवैसी, करेंगे ‘राम-राम’ का जाप; VHP का तंज

जानिए राम मंदिर में कब होगी प्राण प्रतिष्ठा, शुरू हो गई तैयारियाँ: PM को  न्योता

नई दिल्‍ली । बाबरी मस्जिद (Babri Masjid)को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी(President Asaduddin Owaisi) ने हाल ही में बयान (Statement)दिया था। इसके बाद उनपर निशाना साधते हुए विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने शनिवार को कहा कि हैदराबाद के सांसद जल्द ही ‘राम नाम’ का जाप करेंगे। इससे पहले शनिवार को ओवैसी ने रहा था कि बाबरी मस्जिद को मुसलमानों से बहुत व्यवस्थित रूप से छीन लिया गया था। उन्होंने कहा कि यदि 1992 में मस्जिद को ध्वस्त नहीं किया गया होता तो मुसलमानों को वर्तमान स्थिति का सामना नहीं करना पड़ता।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, ओवैसी को जवाब देते हुए वीएचपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने सवाल किया कि पिछले 500 वर्षों में क्या आपके पूर्वजों में से कोई भी अयोध्या आया है? उन्होंने यह भी कहा, “ओवैसी ब्रिटेन से बैरिस्टर हैं। उन्होंने मस्जिद को बचाने के लिए अदालत का रुख क्यों नहीं किया? वह सिर्फ अपनी राजनीति कर रहे हैं। वीएचपी नेता ने कहा कि इस मुस्लिम पार्टी को समझना चाहिए कि जल्द ही वे ‘राम भक्त’ बन जाएंगे और ‘राम नाम’ का जाप करेंगे।

राम मंदिर अभिषेक से पहले कर्नाटक के कलबुर्गी में पत्रकारों से बात करते हुए ओवैसी ने कहा, “मुसलमानों ने 500 वर्षों तक बाबरी मस्जिद में नमाज पढ़ी। जब कांग्रेस के जीबी पंत उत्तर प्रदेश के सीएम थे तो मस्जिद के अंदर मूर्तियां रखी गईं। उस समय अयोध्या के कलेक्टर नायर थे, जिन्होंने मस्जिद को बंद कर दिया और वहां पूजा शुरू कर दी। जब वीएचपी का गठन हुआ तो राम मंदिर अस्तित्व में नहीं था। उन्होंने यह भी दावा किया कि महात्मा गांधी ने कभी भी राम मंदिर के बारे में कुछ भी उल्लेख नहीं किया।

अयोध्या में राम मंदिर का ‘प्राण प्रतिष्ठा’ 22 जनवरी को भव्य तरीके से होने वाला है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि होंगे। समारोह से पहले की रस्में चल रही हैं और कार्यक्रम की अंतिम तैयारियां जोरों पर हैं।