देश की बेटी अनन्या कर्तव्य पथ पर दिखाएंगी भारतीय वायुसेना का दम, पिता थे लड़ाकू पायलट…

नई दिल्‍ली । 26 जनवरी गणतंत्र दिवस को लेकर कर्तव्य पथ पर जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं। उस दिन के लिए झांकियों को तैयार किया जा रहा है। इस मौके पर कर्तव्य पथ पर भारतीय वायुसेना की झांकी बेहद खास होने वाली हैं।

इस बार भारतीय वायुसेना की फ्लाइट लेफ्टिनेंट अनन्या शर्मा झांकी का हिस्सा रहने वाली हैं। बता दें कि अनन्या के पिता भी भारतीय वायु सेना में एक लड़ाकू पायलट थे और उन्होंने मिग -21 लड़ाकू जेट उड़ाया था। अनन्या शर्मा एक लड़ाकू पायलट हैं और वर्तमान में Su-30MKI लड़ाकू विमान स्क्वाड्रन में तैनात हैं।

आइए जानते हैं देश की इस बेटी के बारे में-

अनन्या शर्मा दिल्ली की रहने वाली हैं। उन्होंने अपनी स्कूलिंग एयरफोर्स बाल भारती स्कूल से की। उसके बाद उन्होंने इलेक्टॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन में बीटेक किया। बचपन से वो अपने पिता को एयरफोर्स की वर्दी में देखती थी। पिता को देश की सेवा करता देखकर अनन्या को भी प्रेरणा मिली और उन्होंने भी खुद को देश के लिए न्योछावर करने की ठान ली।

महिलाएं लड़ाकू विमान नहीं उड़ाती थी

1991 से ही भारतीय वायुसेना में महिलाएं हेलीकॉप्टर उड़ाते आ रही हैं, लेकिन लड़ाकू विमान नहीं उड़ाती थी। फिर साल 2015 में भारत सरकार ने इंडियन एयरफोर्स में महिला लड़ाकू पायलट को रखने को मंजूरी दे दी। जब अनन्या को सरकार के इस फैसले के बारे में पता चला तो उन्हें लगा कि अब उनका सपना पूरा हो सकता है। उसके बाद अनन्या ने वायुसेना की उड़ान शाखा में प्रशिक्षण लिया और साल 2021 के दिसंबर में उन्हें फाइटर पायलट के रूप में कमीशन कर दिया गया।

साल 2020 में पिता के साथ उड़ान भर रचा था इतिहास

साल 2020 में फ्लाइट लेफ्टिनेंट अपने पिता फाइटर पायलट के साथ उड़ान भर कर इतिहास रच दिया। बता दें कि अनन्या इस उड़ान के बाद पिता के साथ फाइटर प्लेन उड़ाने वाली पहली महिला भारतीय पायलट बन गई थीं। बता दें कि अनन्या और उनके पिता ने भारतीय वायुसेना का हॉक 132 एयरक्राफ्ट उड़ाया था। उसके बाद से ही अनन्या सोशल मीडिया पर खूब छा गई थीं।