उज्‍जैन में कुलसचिव का बंगला बन रहा मुख्‍यमंत्री आवास, प्रशासनिक कार्य निपटा सकेंगे

उज्‍जैन। प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव जल्‍द भोपाल ही नहीं उज्जैन में भी प्रशासनिक कार्य निपटा सकेंगे। यहां भी सीएम हाउस बनाया जा रहा है। बता दें, कोठी रोड स्थित विक्रम विश्वविद्यालय के कुलसचिव के बंगले को रंगरोगन कर वे व्यवस्थाएं जुटाई जा रही हैं जिससे कि मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव कुलसचिव के इस बंगले पर रात में विश्राम कर सकें और प्रशासनिक कार्यों को भी आसानी से निपटा सकें।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव को जेड प्लस की सुरक्षा प्राप्त है। इसीलिए कुलसचिव के बंगले का चयन उज्जैन में सीएम हाउस के लिए किया गया है। बताया जाता है कि कुलसचिव का यह बंगला सुरक्षा की दृष्टि से इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इस बंगले के आसपास प्रशासनिक संकुल भवन नजदीक होने के साथ ही प्रशासनिक अधिकारियों के कार्यालय और आवास भी नजदीक है, जिससे यहां सुरक्षा के वैसे ही व्यापक इंतजाम रहते हैं। याद रहे कि यह पहला अवसर होगा जब कोई मुख्यमंत्री विश्वविद्यालय के बंगले का उपयोग अपने कार्यालय और विश्राम के रूप में कर रहा है।

बता दें, डॉ. मोहन यादव ऐसे मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने उज्जैन में किसी जनप्रतिनिधि के रात गुजारने का मिथक तोड़ा है। पूर्व में यह कहा जाता था कि पद पर रहने वाला कोई भी जनप्रतिनिधि बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में रात नहीं गुजार सकता, लेकिन मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने इस पद पर आसीन होने के बाद न सिर्फ उज्जैन में रात गुजारी बल्कि इस मिथक को भी तोड़ दिया की यहां रात गुजारने से किसी का पद चला जाता है।