दिल्ली में होगा भाजपा का सबसे बड़ा अधिवेशन, दो दिन तक होगा मंथन

लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का राष्ट्रीय अधिवेशन दिल्ली में होने जा रहा है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले होने वाला अब तक का यह सबसे बड़ा अधिवेशन होगा। इसमें लोकसभा चुनाव में रिकॉर्ड जीत के लिए कार्यकर्ता और पदाधिकारी हुंकार भरेंगे। दिल्ली के प्रगति मैदान स्थित भारत मंडपम में भाजपा का यह राष्ट्रीय अधिवेशन 17 फरवरी को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के भाषण से शुरू होगा और 18 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जीत के मंत्र वाले भाषण से समापन होगा। पहली बार राष्ट्रीय अधिवेशन में देशभर के पदाधिकारी के साथ ही जनप्रतिनिधि भी जुटेंगे।

राजनीतिक विश्लेषक डॉ.दिलीप चन्द्र अग्निहोत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दृष्टिगत भाजपा अपने सभी मोर्चों की धार पैनी करना चाहती है। यही वजह है कि पार्टी ने लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय अधिवेशन आयोजित करने जा रही है। माना जा रहा है कि इस अधिवेशन से प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में लोकसभा चुनाव की भाजपा की सबसे बड़ी जीत की इबारत लिखी जाएगी।

स्वर्णाक्षरों से प्रभु रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह हो या धारा 370 हटाना या उत्तराखंड में समान नागरिक संहिता जैसे ज्वलंत मुद्दों को प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में जिस तरह से भाजपा सरकार ने धरातल पर लाने का काम किया है उससे देश की बहुसंख्यक आबादी काफी पॉजीटिव मानी जा रही है, इसलिए इस अधिवेशन की शुरूआत में जहां भाजपा अध्यक्ष श्री नड्डा इन मुद्दों पर कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम करेंगे। वहीं,प्रधानमंत्री मोदी कार्यकर्ताओं में जोश के साथ होश में जमीनी स्तर पर पार्टी उम्मीदवारों के लिए काम करने की प्रेरणा भरने का काम करेंगे।

देशभर से आएंगे कार्यकर्ता
इस अधिवेशन में राष्ट्रीय कार्यकारिणी,राष्ट्रीय परिषद के पदाधिकारियों के साथ पूरे देश के जिलाध्यक्ष,जिला प्रभारी,लोकसभा प्रभारी,क्लस्टर प्रभारी, लोकसभा संयोजक,लोकसभा विस्तारक,अनुशासन समिति,वित्त समिति,प्रदेशों के मुख्य प्रवक्ता,मीडिया सेल के संयोजक,आईटी सेल के संयोजक,सभी मोर्चों के अध्यक्ष,महामंत्री और प्रकोष्ठों के संयोजक,नगर निगमों,नगर पालिकाओं और नगर पंचायतों के अध्यक्षों,ज़िला पंचायतों के अध्यक्षों सहित देश भर के अलग-अलग स्तर के पार्टी पदाधिकारियों को बुलाया गया है।

लोकसभा चुनाव की रणनीति के साथ ही मिलेंगे जीत के मंत्र
राष्ट्रीय अधिवेशन के जरिए दो दिन तक मंथन करके पूरी तैयारी के साथ भाजपा लोकसभा चुनाव में उतरेगी। लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी मशीनरी को तैयार किया जाएगा। इसके अलावा मोदी सरकार की उपलब्धियों पर प्रस्ताव पारित होगा। मोदी सरकार द्वारा राम मंदिर,अनुच्छेद 370 जैसे मुद्दों पर वादे पूरे करने पर धन्यवाद प्रस्ताव पास भी किया जाएगा। इस अधिवेशन में सरकार की उपलब्धियों के जरिये कार्यकर्ताओं को लोकसभा चुनाव-2024 में जीत के मंत्र भी दिए जायेंगे।

राष्ट्रीय अधिवेशन में देने होंगे पंजीकरण शुल्क
खास बात ये भी है कि इस अधिवेशन में आने वाले सभी पदाधिकारियों से 100 रुपये पंजीकरण शुल्क लिया जाएगा, जिसका डिजिटल भुगतान करने का निर्देश दिया गया है। राष्ट्रीय अधिवेशन का पंजीकरण और दोपहर का भोजन 17 फरवरी को सुबह 11 बजे शुरू होगा। उद्घाटन सत्र दोपहर तीन बजे शुरू होगा। राष्ट्रीय अधिवेशन 18 फरवरी को दोपहर दो बजे प्रधानमंत्री मोदी के समापन संबोधन के साथ समाप्त होगा।

एक संयोजक के साथ चार व्यक्तियों की टीम संभालेगी व्यवस्था
भाजपा राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने पत्रक के जरिए बताया है कि सभी प्रदेश अध्यक्षों व प्रदेश महामंत्रियों से नाम,पता,मोबाइल नंबर व ई-मेल के साथ प्रतिनिधियों की सूची मांगी है। साथ ही प्रदेश अध्यक्षों ने अनुरोध किया है कि राष्ट्रीय अधिवेशन से संबंधित सभी व्यवस्थाओं की देखरेख के लिए एक संयोजक के साथ चार व्यक्तियों की एक टीम नियुक्त करें।