चीन व अमेरिका स्थिर व स्थायी संबंधों को देंगे बढ़ावा : शी जिनपिंग

बीजिंग । चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सोमवार को चीन और संयुक्त राज्य अमेरिका से दोनों राष्ट्राध्यक्षों के बीच हुई महत्वपूर्ण आम समझ और परिणामों को ईमानदारी से लागू करने और चीन-अमेरिका के र‍िश्‍तों को स्थिर, स्वस्थ और सतत विकास को बढ़ावा देने के लिए ठोस कार्रवाई करने का आह्वान किया।  रिपोर्ट के अनुसार, चीनी राष्ट्रपति ने दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की 45वीं वर्षगांठ के अवसर पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को भेजे गए बधाई संदेश में यह टिप्पणी की। जिनपिंग और बाइडेन ने दोनों देशों के राजनयिक संबंधों की 45वीं वर्षगांठ के अवसर पर सोमवार को बधाई संदेशों का आदान-प्रदान भी किया।
अपने संदेश में शी ने कहा कि चीन और अमेरिका के बीच राजनयिक संबंधों की स्थापना द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के इतिहास में एक बड़ी घटना है। पिछले 45 वर्षों में, चीन-यू.एस. शी ने कहा, रिश्ते उतार-चढ़ाव से गुजरे हैं और समग्र रूप से आगे बढ़े हैं, इससे न केवल दोनों लोगों की भलाई में वृद्धि हुई है, बल्कि विश्व शांति, स्थिरता और समृद्धि को भी बढ़ावा मिला है।
चीनी राष्ट्रपति ने कहा, इतिहास पहले ही साबित कर चुका है और पूरी तरह से साबित करता रहेगा कि आपसी सम्मान, शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व और जीत-जीत सहयोग चीन और संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए दो प्रमुख देशों के रूप में एक-दूसरे के साथ आने का सही तरीका है। उन्होंने कहा कि नये युग में चीन और अमेरिका द्वारा किये गये संयुक्त प्रयासों की यही दिशा होनी चाहिए। शी ने बताया कि उन्होंने और बाइडेन ने सैन फ्रांसिस्को में अपनी बैठक के दौरान चीन-अमेरिका के रिश्ते के विकास के लिए भविष्योन्मुखी “सैन फ्रांसिस्को विजन” पेश किया।
उन्होंने चीन और संयुक्त राज्य अमेरिका से दोनों राष्ट्राध्यक्षों द्वारा पहुंची महत्वपूर्ण आम समझ और परिणामों को ईमानदारी से लागू करने और चीन-अमेरिका के रिश्ते स्थिर, स्वस्थ और सतत विकास को बढ़ावा देने के लिए ठोस कार्रवाई करने का आह्वान किया। शी ने इस बात पर जोर दिया कि वह चीन-अमेरिका संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए बाइडेन के साथ काम करने को तैयार हैं। ताकि दोनों देशों और उनके लोगों को लाभ हो और विश्व शांति और विकास को बढ़ावा मिले।