गणतंत्र दिवस से पहले कश्मीर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम, चैक पोस्‍ट पर जांचे शुरु

Republic Day 2023: 74वें गणतंत्र दिवस के आयोजन के लिए कर्तव्यपथ पर चल रही  रिहर्सल; यहां देखें आकर्षक तस्वीरें - Rehearsals underway for the 74th  Republic Day celebrations See ...

श्रीनगर । गणतंत्र दिवस से पहले कश्मीर में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है ताकि घाटी में समारोह सुचारू और शांतिपूर्वक सुनिश्चित किए जा सकें। पुलिस और अन्य सुरक्षाकर्मी विभिन्न क्षेत्रों में सुरक्षा जांच कर रहे हैं। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

कई स्‍थानों पर जांच चौकियां स्‍थापित

अधिकारियों ने बताया कि शहर और अन्य जिला मुख्यालयों में पुलिस और अर्धसैनिक बल के जवानों को तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि श्रीनगर में विभिन्न स्थानों पर जांच चौकियां स्थापित की गई हैं, खासकर शहर और अन्य जिलों के प्रवेश बिंदुओं पर। उन्होंने बताया कि सुरक्षा बल किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए वाहनों की औचक जांच कर रहे हैं और लोगों की तलाशी ले रहे हैं।

गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह जम्मू में होगा जिसकी अध्यक्षता जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा करेंगे वहीं घाटी में सबसे बड़ा समारोह यहां बख्शी स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा। इसी तरह के समारोह जिला मुख्यालयों पर भी आयोजित किये जायेंगे।

समारोह स्थलों के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई

अधिकारियों ने कहा कि यहां स्टेडियम सहित घाटी में गणतंत्र दिवस समारोह स्थलों के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है और आयोजन स्थलों के आसपास बहु-स्तरीय सुरक्षा तंत्र स्थापित किया गया है। उन्होंने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों को सतर्क रहने और किसी को भी कानून व्यवस्था बिगाड़ने और शांति भंग करने की इजाजत नहीं देने को कहा गया है।

आतंकी घटना की निगरानी में सुरक्षा तंत्र तैनात

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) वी के बिरदी ने कहा, ”व्यवस्थाएं लागू हैं, आवश्यक उपाय किए गए हैं। सुरक्षा बढ़ा दी गई है और हम सुचारू समारोह सुनिश्चित करेंगे, चाहे वह श्रीनगर में हो या घाटी में कहीं और। यह पूछे जाने पर कि क्या संभावित आतंकवादी हमलों को लेकर कोई विशेष जानकारी है, तो उन्होंने कहा, ”सुरक्षा तंत्र को लगाया गया है, जो आवश्यक उपाय कर रहा है।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) आर आर स्वैन ने शनिवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में पूरे जम्मू कश्मीर में सुरक्षा उपायों की समीक्षा की थी। स्वैन ने कहा था, ‘सक्रिय दृष्टिकोण और नवीन जिला-स्तरीय योजनाओं को लागू करके शत्रु तत्वों के इरादों को विफल किया जाना चाहिए। बुधवार को बख्शी स्टेडियम और घाटी के अन्य स्थानों पर फुल-ड्रेस रिहर्सल की जा रही है।