हरियाणा में चुनाव से पहले AAP को बड़ा झटका, अशोक तंवर समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल

Haryana leader Ashok Tanwar joins BJP - The Hindu

नई दिल्‍ली । आम आदमी पार्टी (AAP) की हरियाणा चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष अशोक तंवर शनिवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और अनिल बलूनी की मौजूदगी में अपने समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हो गए। उन्होंने दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. बता दें कि अशोक तंवर ने 18 जनवरी को AAP की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. अशोक तंवर हिसार से लोकसभा सांसद और हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश बदल रहा

बीजेपी में शामिल होने के बाद अशोक तंवर ने कहा, ‘पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पिछले 10 वर्षों में देश में बदलाव आया है. मैं हम पीएम मोदी द्वारा भारत को नंबर वन बनाने के लिए किए जा रहे कार्यों से प्रभावित हूं. मैं जितना हो सकेगा राष्ट्र निर्माण की दिशा में काम करूंगा. हम 2024 में 400 लोकसभा सीटें जीतने के लिए सीएम मनोहर लाल खट्टर, प्रदेश अध्यक्ष नायब सैनी के साथ एक टीम के रूप में काम करेंगे।

हरियाणा में बीजेपी के लिए विस्‍तार का बड़ा दिन

मनोहर लाल खट्टर ने कहा, ‘हरियाणा बीजेपी के लिए राज्य में अपने विस्तार का बड़ा दिन है. कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और आम आदमी पार्टी के वर्तमान नेता अशोक तंवर अपने समर्थकों के साथ बीजेपी में शामिल हो गए हैं. वह रिश्ते में मेरा भांजा हैं. उनकी मां और मैं एक ही गांव के हैं. जब वह कांग्रेस में थे तब कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला किया, तो मुझे दुख हुआ. वह कांग्रेस से तंग आकर बीजेपी में शामिल होना चाहते थे. उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी, लेकिन अप्रैल 2022 में बीजेपी के बजाय आम आदमी पार्टी में शामिल होने की गलती कर दी. लेकिन AAP में अपने कड़े अनुभव के बाद वह बीजेपी में शामिल हो गए हैं।

एनडी गुप्ता राज्‍यसभा भेज मंसूबों पर पानी फेरा

उन्होंने 5 अक्टूबर 2019 को कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने अपनी पार्टी भी बनाई, लेकिन कुछ खास नहीं कर पाए. वह कुछ समय ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी में भी रहे. वह 4 अप्रैल 2022 को आम आदमी पार्टी में शामिल हुए थे. सूत्रों की मानें तो अशोक तंवर उम्मीद कर रहे थे कि आम आदमी पार्टी उन्हें राज्यसभा भेजेगी. लेकिन AAP ने एनडी गुप्ता को उच्च सदन में भेजकर उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया. इसके बाद से ही वह नाराज चल रहे थे. पिछले दिनों उनकी मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर से मुलाकात भी हुई थी. इसके बाद से आशंका जताई जा रही थी कि वह जल्द ही AAP का साथ छोड़कर बीजेपी में शामिल हो सकते हैं. आज इस पर मुहर भी लग गई।