Lok Sabha Election: जयंत चौधरी के इस फैसले से नाराज हुए किसान नेता, कहा- ‘बिना हमारी सलाह लिए…

Bharatiya Kisan Union की ताज़ा खबरे हिन्दी में | ब्रेकिंग और लेटेस्ट न्यूज़  in Hindi - Zee News Hindi

नई दिल्‍ली । लोकसभा चुनाव से राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी इंडिया गठबंधन का साथ छोड़कर एनडीए में शामिल हो गए, जिसे लेकर भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि जयंत ने जो फैसला लिया उस पर उनकी सलाह नहीं ली।

नरेश टिकैत ने बागपत में पत्रकारों से बात करते हुए रालोद के एनडीए के साथ जाने के फैसले पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि जयंत चौधरी ने उनसे गठबंधन पर सलाह नहीं ली। बिना हमारी सलाह के ही ये फैसला लिया है। बीजेपी के साथ रालोद का गठबंधन लोगों के गले नहीं उतर रहा है।

बीजेपी को बताया बड़ी मछली

भाकियू अध्यक्ष ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए उसे बड़ी मछली बताया और कहा कि भाजपा एक चालाक पार्टी है, वो छोटे-मोटे दलों को यूं ही निगल जाएगी। जयंत के परिवार से हमारा तीन पीढ़ियों का साथ रहा है। गठबंधन से पहले सलाह लेनी चाहिए थी।

नरेश टिकैत ने कहा कि हमें गठबंधन से कोई परहेज नहीं लेकिन अगर दोनों दलों का सच्चे दिल से गठबंधन है तो भविष्य में भी ये चलता रहेगा, लेकिन अगर मन में कालापन है तो बीजेपी और रालोद का गठबंधन नहीं चल पाएगा।

ईवीएम से ही चुनाव हुए तो फिर भाजपा ही जीतेगी:आरोप

चुनाव के दौरान ईवीएम को लेकर भी सवाल उठते रहते हैं। नरेश टिकैत ने भी ईवीएम की तुलना मोबाइल से करते हुए गड़बड़ी का आरोप लगाया, उन्होंने कहा कि ईवीएम में कुछ तो गड़बड़ है, पेन ड्राइव से वोटों का आंकड़ा बढ़ा दिया जाता है। अगर ईवीएम से ही चुनाव हुए तो फिर भाजपा ही जीतेगी।

दरअसल पिछले दिनों जयंत चौधरी सपा से नाराज होकर एनडीए में शामिल हो गए थे। एनडीए गठबंधन में उन्हें दो सीट बागपत और बिजनौर मिली है। जिन पर पार्टी की ओर से प्रत्याशियों के नामों का एलान भी हो गया है। वहीं रालोद के यूपी सरकार में भी एक मंत्रीपद मिला है।