भाई के निर्दलीय चुनाव लड़नें पर ममता बनर्जी ने तोड़ा, ‘बाबुन’ से सारा रिश्ता

कोलकात्ता। तृणमूल कांग्रेस (TMC) प्रमुख ममता बनर्जी के छोटे भाई बाबुन बनर्जी ने पश्चिम बंगाल की हावड़ा लोकसभा सीट से प्रसून बनर्जी को फिर से पार्टी का उम्मीदवार बनाए जाने पर नाखुशी जताई है। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में जाने की अटकलों को खारिज कर दिया, लेकिन कहा कि वह हावड़ा सीट से निर्दलीय लोकसभा चुनाव लड़ने पर विचार कर रहे हैं। बाबुन बनर्जी इस समय दिल्ली में हैं।

इसके बाद ममता बनर्जी ने अपने छोटे भाई बाबुन से सभी संबंध खत्म करने की भी घोषणा कर दी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, ”मैं और मेरा परिवार बाबुन बनर्जी के साथ सभी संबंध खत्म करते हैं।

उन्होंने सवाल खड़े करते हुए कहा, ”मैं हावड़ा लोकसभा सीट पर प्रत्याशी के चयन से खुश नहीं हूं। प्रसून बनर्जी सही चयन नहीं हैं। कई और सक्षम उम्मीदवार थे जिनकी अनदेखी की गई।” उन्होंने कहा, ”प्रसून ने मेरा जो अपमान किया था, मैं कभी उसे नहीं भूल सकता।” पूर्व फुटबॉल खिलाड़ी प्रसून बनर्जी तृणमूल कांग्रेस से हावड़ा सीट का दूसरी बार लोकसभा में प्रतिनिधित्व कर रहे हैं और उन्हें तीसरी बार भी उम्मीदवार बनाया गया है।

ममता बनर्जी के छोटे भाई बाबुन बनर्जी ने कहा कि वह हावड़ा के रजिस्टर्ड वोटर हैं। उन्होंने कहा, “मैं जानता हूं कि दीदी (ममता बनर्जी) मुझसे सहमत नहीं होंगी। लेकिन अगर जरूरत पड़ी तो मैं हावड़ा लोकसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ूंगा।” उन्होंने यह भी कहा कि जब तक ममता दी हैं, तब तक मैं पार्टी कभी नहीं छोड़ूंगा और न ही किसी राजनैतिक दल में शामिल होऊंगा। हां यह जरूर है कि मैं खेल से जुड़ा हूं और कई बीजेपी नेताओं को भी जानता हूं जोकि खेल से जुड़े हुए हैं।
बता दें कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए तृणमूल कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ रही है। पिछले दिनों ममता बनर्जी ने बंगाल की सभी 42 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी। ममता ने कांग्रेस से लोकसभा में नेता अधीर रंजन चौधरी के खिलाफ बहरामपुर लोकसभा सीट से पूर्व क्रिकेटर यूसुफ पठान को उतार दिया है। बहरामपुर सीट कांग्रेस और अधीर रंजन चौधरी का गढ़ मानी जाती रही है। इसके अलावा, कृष्णानगर लोकसभा सीट से महुआ मोइत्रा को भी टिकट दिया गया है।