अभिषेक घोसालकर की हत्या या आत्महत्या, कौन था गोली मारने वाला मौरिस नोरोन्हा?

मुबंई। शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) के नेता अभिषेक घोसालकर की गुरुवार शाम मुंबई में एक स्थानीय ‘सामाजिक कार्यकर्ता’ मौरिस नोरोन्हा ने ‘फेसबुक लाइव’ के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि हमलावर नोरोन्हा ने खुद को भी गोली मारकर अपनी जान दे दी है। घटना का फेसबुक लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें अभिषेक के पेट और कंधे में गोली मारी जाती दिखाई देती है। यह घटना बोरीवली (पश्चिम) स्थित आईसी कॉलोनी में मौरिस नोरोन्हा के कार्यालय में हुई।

कौन था मौरिस नोरोन्हा?

मुंबई के बोरीवली में “मौरिस भाई” के नाम से मशहूर नोरोन्हा सोशल मीडिया पर खुद को एक पुरस्कार विजेता सामाजिक कार्यकर्ता, कोविड वॉरियर और एक समाजसेवी व्यक्ति बताता था। नोरोन्हा ने 10 फरवरी को स्थानीय निवासियों को नासिक में शिशु जीसस मंदिर ले जाने की योजना बनाई थी। इस नियोजित तीर्थयात्रा का उल्लेख शिवसेना (यूबीटी) नेता अभिषेक घोसालकर ने हत्या से पहले फेसबुक लाइव स्ट्रीमिंग के दौरान भी किया था।

29 जनवरी को, नोरोन्हा ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर एक सीक्रेट मैसेज पोस्ट किया जिसमें लिखा था, “आप ऐसे व्यक्ति को नहीं हरा सकते जो दर्द देने, नुकसान पहुंचाने, अनादर करने, दिल तोड़ने और मानने की परवाह नहीं करता है।” 2022 में मौरिस नोरोन्हा के खिलाफ पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी किया था। उसके खिलाफ 48 वर्षीय महिला को ब्लैकमेल करने, बलात्कार करने, धोखाधड़ी और धमकी देने का आरोप था। हालांकि आरोप 2014 के हैं, लेकिन शिकायत 2022 में दर्ज की गई, जिसके चलते नोरोन्हा की गिरफ्तारी हुई थी।

कौन थे अभिषेक घोषालकर?

40 वर्षीय अभिषेक घोसालकर, पूर्व विधायक विनोद घोसालकर के बेटे थे, जो उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी के वफादार हैं। वहीं अभिषेक घोसालकर मुंबई नगर निगम के नगरसेवक थे। वह मुंबई डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के निदेशक भी थे। अभिषेक घोसालकर को आदित्य ठाकरे का करीबी माना जाता था। अभिषेक घोसालकर ने 2013 में तेजस्वी दारेकर से शादी की थी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि अभिषेक घोसालकर को चार गोलियां लगीं। उन्होंने बताया कि मौरिस नोरोन्हा ने अपराध के लिए अवैध पिस्तौल का इस्तेमाल किया और फिर खुद को भी गोली मार ली।

अभिषेक घोसालकर की हत्या क्यों की गई?

मौरिस ‘भाई’ के नाम से मशहूर नोरोन्हा एक पोकर खिलाड़ी था। वह हाल ही में लॉस एंजिल्स से मुंबई लौटा था। बताया जा रहा है कि वह आगामी नगरसेवक चुनाव लड़ना चाहता था। लेकिन उसकी उम्मीदों को तब झटका लगा जब अभिषेक घोसालकर ने उसकी उम्मीदवारी का विरोध किया। स्थिति तब और भी गंभीर हो गई जब नोरोन्हा के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज किया गया। जिससे उसकी गिरफ्तारी हुई। उसको शक था कि उसके खिलाफ दर्ज मामलों के पीछे अभिषेक घोसालकर का हाथ है।

क अधिकारी ने बताया घोसालकर और नोरोन्हा के बीच आपसी रंजिश थी। फेसबुक लाइव यह स्पष्ट करने के लिए था कि वे बोरीवली में आईसी कॉलोनी क्षेत्र की बेहतरी के लिए अपने आपसी विवाद को खत्म करके दोनों एक साथ आए हैं। पुलिस अधिकारी ने बताया कि फेसबुक लाइव इसलिए किया गया था ताकि वे आईसी कॉलोनी क्षेत्र की भलाई के लिए अपनी कड़वाहट को खत्म करने के लिए एक साथ आ सकें। नोरोन्हो ने कथित तौर पर एक योजना बनाई और अपनी जान लेने से पहले घोसालकर को कई बार गोली मारी।

शिवसेना (यूबीटी) सांसद संजय राउत ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में आरोप लगाया कि शिंदे ने चार दिन पहले यहां मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास ‘वर्षा’ में नोरोन्हा से मुलाकात की थी और उन्हें अपने (शिंदे के) नेतृत्व वाली शिवसेना में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। राउत ने यह भी मांग की कि उपमुख्यमंत्री एवं गृह मंत्री देवेंद्र फडणवीस को इस्तीफा दे देना चाहिए।