इन राज्यों में कड़ाके की ठंड के साथ शीत लहर का अनुमान, बारिश के भी बने आसार; IMD की चेतावनी

नई दिल्‍ली । देश (Country)के कई राज्यों में नए साल की शुरुआत (beginning)कड़ाके की ठंड के साथ हुई है। दिल्ली (Delhi)में नए साल के पहले दिन लोगों (people)को अधिक ठंड का अनुभव हुआ और अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस मौसम के औसत तापमान से दो डिग्री कम है। इसके अलावा, कई अन्य राज्यों में शीतलहर चलने की संभावना भी जताई गई है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने ये जानकारी दी। इसके मुताबिक, 5 से 11 जनवरी तक तापमान में गिरावट की उम्मीद कर सकते हैं। मौसम में इस बदलाव से कुछ उत्तर भारतीय राज्यों में शीत लहर की स्थिति पैदा होने का अनुमान है।

इन राज्यों में चलेगी शीतलहर

आईएमडी के महानिदेशक डॉ मृत्युंजय महापात्र ने समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, “5 से 11 जनवरी के दौरान, हम रात के तापमान में गिरावट की उम्मीद कर रहे हैं, इससे मध्य भारत के कुछ हिस्सों में शीत लहर की स्थिति पैदा हो सकती है। दिन का तापमान भी सामान्य से नीचे रहेगा, जिससे विशेष रूप से मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र के उत्तरी हिस्सों, उत्तर प्रदेश के दक्षिणी हिस्सों और हरियाणा और राजस्थान के क्षेत्रों में ठंड की स्थिति बनी रहेगी। इन क्षेत्रों में 5 से 11 तारीख तक हम शीत लहर की स्थिति की उम्मीद कर सकते हैं।”

इस बीच, आईएमडी द्वारा सोमवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि अगले दो दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में ठंडे दिन से लेकर गंभीर ठंडे दिन की स्थिति जारी रहने और उसके बाद कम होने की संभावना है। आईएमडी ने कहा, “1 और 2 जनवरी को पंजाब, हरियाणा के कई हिस्सों में और 3 जनवरी को भी कुछ हिस्सों में ठंडे दिन से लेकर गंभीर ठंडे दिन की स्थिति होने की संभावना है।” मौसम विभाग ने 4 और 5 जनवरी को अलग-अलग इलाकों में ठंडे दिन की स्थिति की भी भविष्यवाणी की है।

गंभीर ठंडे दिन की स्थिति होने की संभावना

आईएमडी ने कहा, “1 और 2 जनवरी को उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों और पश्चिम राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में ठंडे दिन से लेकर गंभीर ठंडे दिन की स्थिति होने की संभावना है।” इसमें कहा गया है, “1-3 जनवरी के दौरान पूर्वी राजस्थान के अलग-अलग हिस्सों में और 2 जनवरी को मध्य प्रदेश में और 3 जनवरी 2024 को पश्चिमी राजस्थान में ठंडे दिन की स्थिति होने की संभावना है।” हालांकि, मौसम विभाग ने कहा कि जनवरी 2024 के दौरान मध्य भारत के अधिकांश हिस्सों में सामान्य से कम शीत लहर वाले दिन होने की संभावना है।

इन राज्यों में हो सकती है बारिश

आईएमडी के अनुसार, ताजा पूर्वी लहर और पश्चिम भूमध्यरेखीय हिंद महासागर और उससे सटे दक्षिण-पूर्व अरब सागर पर कम दबाव के क्षेत्र के कारण, दक्षिण तमिलनाडु, दक्षिण केरल और लक्षद्वीप सहित दक्षिणी भारत में 4 जनवरी तक हल्की से मध्यम बारिश होने की उम्मीद है। इसके अलावा, उत्तरी राज्यों यूपी, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में मंगलवार और बुधवार को हल्की बारिश हो सकती है।

उन्होंने बताया किया कि दक्षिण-पूर्व अरब सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, जो लक्षद्वीप और मालदीव दोनों द्वीपों के क्षेत्रों पर बादल बना रहा है। आईएमडी का अनुमान है कि आने वाले तीन दिनों में लक्षद्वीप में 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होने की संभावना है। मछुआरों को भी समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है। महापात्र ने सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान जनवरी, फरवरी और मार्च के लिए औसत वर्षा की भविष्यवाणी की।