इंग्लैंड ने तोड़ा रोहित-ब्रिगेड का गुरूर, भारत में ज्यादा जीत का रिकॉर्ड बनाया

नई दिल्ली । इंग्लैंड ने भारत को जब हैदराबाद टेस्ट में 28 रन से हराया तो एक साथ कई रिकॉर्ड भी टूट गए. जैसे यह किसी विदेशी टीम का भारत में सबसे ज्यादा रन से पिछड़कर जीतने का रिकॉर्ड है।

2012 के बाद पहली बार हुआ कि किसी विदेशी टीम ने अपनी दूसरी पारी में 400 से ज्यादा रन ठोक दिए. लेकिन इंग्लैंड (England) ने इन सभी रिकॉर्ड से भी बड़ा कुछ किया है. बेन स्टोक्स की कप्तानी में खेल रही इंग्लिश टीम ने भारत में सबसे अधिक टेस्ट मैच जीतने का रिकॉर्ड भी बना दिया है।

इंग्लैंड की टीम 1933 से भारत दौरे पर आ रही

इंग्लैंड की टीम 1933 से भारत दौरे पर आ रही है. उसने हैदराबाद मुकाबले से पहले भारत में 64 टेस्ट मैच खेले थे, जिनमें से 14 में उसे जीत मिली थी. इंग्लैंड ने हैदराबाद में टीम इंडिया को हराने के साथ ही भारत में 15वां टेस्ट मैच जीत लिया है, जो किसी भी विदेशी टीम से ज्यादा है. भारत और इंग्लैंड (India vs England) के बीच दूसरा टेस्ट मैच 2 फरवरी से विशाखापत्तनम में खेला जाएगा।

वेस्टइंडीज की टीम नंबर एक पर थी

हैदराबाद टेस्ट से पहले इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज भारत में 14-14 जीत के साथ बराबरी पर थे. ऑस्ट्रेलिया ने भारत में खेले गए 54 टेस्ट मैचों में से 14 में जीत दर्ज की है. वेस्टइंडीज ने 47 में से 14 टेस्ट मैच जीते हैं. इस मायने में हैदराबाद टेस्ट मैच से पहले विनिंग पर्सेंट में वेस्टइंडीज की टीम नंबर एक पर थी. लेकिन हैदराबाद में जीत दर्ज कर इंग्लैंड की टीम अब अकेले ही चोटी पर आ गई है।

इंग्लैंड की टीम का अब ओवरऑल टेस्ट रिकॉर्ड

भारत में इंग्लैंड की टीम का अब ओवरऑल टेस्ट रिकॉर्ड 65 मैच, 15 जीत, 22 हार और 28 ड्रॉ है. अगर इंग्लैंड की टीम भारत में सबसे ज्यादा मैच जीतने के मामले में नंबर-1 है तो हारने के मामले में यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के नाम है. ऑस्ट्रेलिया ने भारत में 23 टेस्ट मैच हारे हैं. कंगारू टीम का भारत में ओवरऑल टेस्ट रिकॉर्ड 54 मैच, 14 जीत, 23 हार, एक टाई और 16 ड्रॉ है. पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका ने भारत में 5-5 टेस्ट मैच जीते हैं, जबकि न्यूजीलैंड को 2 बार जीत मिली है. श्रीलंका, बांग्लादेश, जिम्बाब्वे और अफगानिस्तान की टीमें भारत में एक भी टेस्ट मैच नहीं जीत सकी हैं।

हैदराबाद टेस्ट की ओवरऑल बात करें तो भारत ने इस मैच में पहले बॉलिंग करते हुए इंग्लैंड को 246 रन पर आउट किया. इसके बाद खुद 436 रन बनाए. इस तरह उसे पहली पारी में 190 रन की बढ़त मिली. इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 420 रन का स्कोर बनाया. इस तरह भारत को जीत के लिए 231 रन का लक्ष्य मिला. भारतीय टीम इसके जवाब में 202 रन बनाकर आउट हो गई।