टेस्ट के बाद वनडे से भी डेविड वॉर्नर ने किया रिटायरमेंट का ऐलान, जानें कब खेलेंगे आखिरी मैच

नई दिल्‍ली । नए साल के पहले ही दिन डेविड वॉर्नर ने वर्ल्ड क्रिकेट और अपने फैंस को चौंका दिया है. उन्होंने अचानक ही अब वनडे क्रिकेट से भी अपने संन्यास की घोषणा कर दी है. वर्ल्ड कप जीतने के बाद दिग्गज क्रिकेटर ने कहा था कि 2027 में फिर मिलते हैं. कयास लगाया जा रहा था कि अभी वह वनडे खेलते रहेंगे लेकिन अब उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि सिडनी टेस्ट के साथ ही वह टेस्ट और वनडे दोनों फॉर्मेट से संन्यास ले रहे हैं. वर्ल्ड कप फाइनल में खेली उनकी पारी ही आखिरी वनडे पारी होगी. बता दें कि टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट की घोषणा वॉर्नर ने पाकिस्तान के साथ सीरीज शुरू होने से पहले ही कर दी थी. फिलहाल वह टी-20 और आईपीएल खेलते रहेंगे।

सिडनी टेस्ट से पहले डेविड वॉर्नर जब प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए आए तो उन्होंने अचानक ही यह ऐलान कर दिया. टेस्ट से संन्यास के बाद से अटकलें लग रही थीं कि वह वनडे से भी रिटायरमेंट ले सकते हैं. सिडनी टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज आखिरी बार टीम की सफेद जर्सी में दिखेंगे. पूरी टीम उन्हें जीत के साथ विदाई देना चाहेगी. वनडे में भारत के खिलाफ वर्ल्ड कप फाइनल में खेली पारी के साथ उनके शानदार करियर का समापन हो चुका है।

T-20 और आईपीएल में जारी रखेंगे खेलना 

टी20 के विस्फोटक बल्लेबाजों में शुमार डेविड वॉर्नर आईपीएल में भी अहम खिलाड़ी माने जाते रहे हैं. उनकी कप्तानी में ही सनराइजर्स हैदराबाद ने ट्रॉफी जीती थी. हालांकि, खराब फॉर्म के बाद फ्रेंचाइजी ने उन्हें बीच सेशन में ही कप्तानी से हटा दिया और विवादित तरीके से उनका सफर खत्म हुआ. अब वह दिल्ली कैपिटल्स की टीम का हिस्सा हैं. माना जा रहा है कि टी-20 वर्ल्ड कप के बाद वह क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान कर सकते हैं।

वनडे में डेविड वॉर्नर का रिकॉर्ड रहा है जोरदार 

डेविड वॉर्नर के वनडे करियर की बात करें तो उन्होंने साल 2009 में डेब्यू किया था. 14 साल के अपने करियर में ऑस्ट्रेलियाई ओपनर ने कुल 161 मैच खेले, जिसमें 45.30 की औसत से 6932 रन बनाए. उन्होंने 22 शतक और 33 अर्धशतक जड़े और बेस्ट स्कोर 179 रहा. इसके अलावा क्रिकेट के इस फॉर्मेट में वॉर्नर ने 733 चौके और 130 छक्के जड़े है. हालांकि, पिछले कुछ वक्त से वह अपनी फॉर्म से जूझ रहे थे।