भाजपा में वापसी के बाद नीतीश कु‍मार आज करेंगे पीएम मोदी से मुला‍कात, एजेंडे में बिहार के लिए विशेष पैकेज की मांग

नई दिल्‍ली । बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने वाले हैं। 28 जनवरी को बिहार में महागठबंधन छोड़कर एनडीए में लौटने के बाद कुमार की यह राष्ट्रीय राजधानी की पहली यात्रा होगी और मोदी के साथ उनकी पहली मुलाकात होगी।

एजेंडे में बिहार के लिए विशेष पैकेज भी शामिल है। सूत्रों ने कहा कि उनके अनुभवी भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी से भी मिलने की संभावना है। यह बैठक 12 फरवरी को नीतीश सरकार के विश्वास मत का सामना करने से केवल पांच दिन पहले होगी। कुमार के राष्ट्रीय राजधानी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी मिलने की उम्मीद है।

लोकसभा चुनाव बटवारें पर भी चर्चा संभव

बताया जा रहा है कि नीतीश की भाजपा नेताओं से लोकसभा चुनाव को लेकर सीट बंटवारे पर भी चर्चा हो सकती है। दिल्ली में भाजपा के प्रमुख नेता के साथ बैठक के बाद कुमार के 8 फरवरी की शाम को बिहार लौटने की उम्मीद है। बिहार के उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी और विजय कुमार सिन्हा ने सोमवार को पीएम से मुलाकात की। जेडीयू सूत्रों के मुताबिक, सीएम की बीजेपी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात के दौरान राज्य में राज्यसभा चुनाव से जुड़े मुद्दों पर भी चर्चा हो सकती है। बिहार में छह राज्यसभा सीटें खाली हो रही हैं, जिनके लिए 27 फरवरी को चुनाव होना है।

11 फरवरी तक हैदराबाद में रहने की संभावना

छह सीटों में से दो वर्तमान में जद (यू) के पास हैं, जो पार्टी के पूर्व अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह और वरिष्ठ नेता अनिल हेगड़े के पास हैं। जबकि दो राजद के पास हैं, जिन पर मनोज कुमार झा और मीसा भारती का कब्जा है। एक सीट भाजपा के सुशील कुमार मोदी के पास है, जो पहले उपमुख्यमंत्री थे, और एक सीट कांग्रेस के पास है, जो उसके राज्य इकाई के अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह के पास है। बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए द्वारा खरीद-फरोख्त की आशंका के बीच बिहार के कांग्रेस विधायक हैदराबाद के एक रिसॉर्ट में डेरा डाले हुए हैं। तेलंगाना कांग्रेस के सूत्रों ने कहा कि रिसॉर्ट में रहने वाले बिहार के आगंतुकों की संख्या 20 से अधिक है। विपक्षी विधायकों के 11 फरवरी तक हैदराबाद में रहने की संभावना है।