बदायूं में महिला सिविल जज ज्योत्सना राय ने की आत्महत्या, फंदे पर लटका मिला शव

बदायूं। उत्तर प्रदेश के बदायूं में महिला जज ज्योत्सना राय ने आत्महत्या कर ली है। शनिवार सुबह सरकारी आवास में महिला जज का शव फंदे से लटका मिला है। पुलिस ने कथित तौर आत्महत्या की बात कही है। मौके पर डीएम-एसएसपी समेत तमाम अधिकारी पहुंच गए। घटनास्थल पर छानबीन कराई जा रही है। ज्योत्सना राय की बदायूं में दूसरी पोस्टिंग थी। वह अप्रैल 2023 में बदायूं आई थी। इससे पहले वह अयोध्या में थीं।

एसपी बदायूं आलोक प्रियदर्शी ने कहा कि पुलिस मौके पर पहुंची। उनका आवास पहली मंजिल पर है। दरवाजे अंदर से बंद थे। उसे जबरदस्ती खोला गया और उनका शव छत के पंखे से लटका हुआ मिला। शव को कब्जे में ले लिया गया है और जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि उनके दस्तावेजों में कुछ चीजें मिली हैं। सभी तथ्यों की जांच की जाएगी।

शहर कोतवाली क्षेत्र में स्थित जज की कॉलोनी में रहने वाली सिविल जज जूनियर डिवीजन ज्योत्सना राय के सुबह समय पर कार्यालय न पहुंचने पर उनकी कोर्ट के कर्मचारियों ने कॉल की तो वह रिसीव नहीं हुई। इस पर कर्मचारी आवास पर पहुंचे तो काफी आवाज और खटखटाने पर दरवाजा नहीं खुला। इसके बाद करीब साढ़े दस बजे सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर गई तो कमरे में पंखे से शव लटक रहा था। पास में ही मोबाइल पड़ा था और दूसरे कमरे का सामान भी बिखरा हुआ था। कोतवाली इंस्पेक्टर विजेंद्र सिंह ने सूचना एसएसपी आलोक प्रियदर्शी को दी। इस पर डीएम मनोज कुमार और एसएसपी आलोक प्रियदर्शी मौके पर पहुंचे।

फोरेंसिक टीम जुटा रही साक्ष्य

किसी को अंदर नहीं जाने दिया गया। फोरेंसिक टीम साक्ष्य जुटा रही है। बताया जा रहा कि पिछले कुछ दिन से ज्योत्सना राय अवसाद में चल रहीं थी। उनकी डायरी से एक सुसाइड नोट मिला है। जिस पर पुलिस अधिकारी अभी कुछ बोल नहीं रहे हैं। एसएसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि जांच जारी है। सिविल जज जूनियर डिवीजन ज्योत्सना राय ने आत्महत्या की है। वह मूल रूप से मऊ की रहने वाली हैं। सूचना स्वजन को दे दी है। अब स्वजन के आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।