मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे के बाद घमासान तेज, संजय राउत बोले- दक्षिण मुंबई सीट पर कोई समझौता नहीं…

मुंबई । महाराष्ट्र में कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा के पार्टी छोड़ने के बाद से दक्षिण मुंबई लोकसभा सीट एक बार फिर चर्चा में है। यहां अभी उद्धव ठाकरे समर्थक अरविंद सावंत सांसद हैं। देखना यही है कि 2024 लोकसभा चुनाव में यहां किन-किन नेताओं के बीच हाई प्रोफाइल मुकाबला होता है?

52 साल का रिश्ता खत्म होने के पीछे दक्षिण मुंबई सीट

दक्षिण मुंबई देवड़ा परिवार की परंपरागत सीट रही है। हालांकि मिलिंद देवड़ा को यहां दो बार (2014 और 2019) में हार का सामना करना पड़ा, क्योंकि शिवसेना ने यहां भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा।

इस बार तस्वीर अलग होगी। माना जा रहा है कि शिवसेना (एकनाथ शिंदे) गुट में शामिल होने के बाद मिलिंद देवड़ा को 2024 चुनाव में इसी सीट पर प्रत्याशी बनाया जा सकता है। वहीं संजय राउत ने आज के घटनाक्रम के बाद साफ कर दिया है कि उनका गुट इस सीट पर कोई समझौता नहीं करेगा।

साफ है कि दक्षिण मुंबई लोकसभा सीट वो सीट होगी, जिस पर शिवसेना के दोनों गुटों की प्रतिष्ठा दांव पर रहेगी। सबकुछ ठीक रहा तो अरविंद सावंत बनाम मिलिंद देवड़ा का मुकाबला होगा।

सच बोलने वालों को कांग्रेस छोड़ना पड़ती है: आचार्य प्रमोद

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के नेता और प्रवक्ता आचार्य प्रमोद कृष्णम् ने मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे के बाद बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में शीर्ष पर कुछ ऐसे नेता बैठे हैं जो सच सुनना पसंद नहीं करते हैं। यही कारण है सच बोलने वालों को कांग्रेस छोड़ना पड़ती है।