लगातार 7वीं बार देश में इंदौर से स्‍वच्‍छ शहर कोई नहीं, मध्यप्रदेश को मिले 6 अवॉर्ड

नई दिल्‍ली। स्वच्छता सर्वेक्षण रैंकिंग में इंदौर को लगातार सातवीं बार देश में स्वच्छता में नंबर वन का खिताब मिला है। साथ ही मध्यप्रदेश के 6 शहरों को भी अवॉर्ड मिले हैं। इंदौर जिले के ही महू कंटोनमेंट को भी स्वच्छता अवॉर्ड मिला है। इस घोषणा के साथ ही इंदौर सहित मध्यप्रदेश में जश्न का माहौल है।

दिल्ली के भारत मंडपम कन्वेंशन सेंटर में स्वच्छ सर्वेक्षण पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया। देश के स्वच्छ शहरों में मध्य प्रदेश का इंदौर 7वीं बार स्वच्छ शहरों में नंबर वन बन गया है। इसके साथ ही मध्य प्रदेश को 6 अवॉर्ड भी मिले हैं। कई शहरों ने इस बार तैयारी की थी पर देश में इंदौर ने इसमें लगातार सातवीं बार बाजी मार ली। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने स्वच्छता रैंकिंग में आए शहरों के महापौरों को पुरस्कृत किया है। एमपी के मुख्‍यमंत्री डॉ. मोहन यादव, कैलाश विजयवर्गीय और महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने यह पुरस्कार ग्रहण किए।

मुख्यमंत्री बोले- 7वें आसमान पर अपना इंदौर

मध्यप्रदेश के मुख्‍यमंत्री डॉ. मोहन ने इंदौर सहित प्रदेशवासियों को इस सम्मान के लिए बधाई दी है। यादव ने अपने ट्वीट संदेश में कहा कि ‘स्वच्छता के सातवें आसमान पर अपना इंदौर’ इंदौरवासियों ने पुनः यह सिद्ध कर दिया है कि स्वच्छता न सिर्फ उनकी आदत बन चुकी है, बल्कि अब उनकी सोच में भी स्वच्छता ही है। स्वच्छता की इस सबसे बड़ी उपलब्धि पर मैं समस्त प्रदेशवासियों एवं स्वच्छता के कार्य में लगी पूरी टीम को बधाई देता हूं एवं अपील करता हूं कि स्वच्छता के लिए आपका यह जुनून कभी कम न हो। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के स्वच्छ भारत के सपने को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री मोदीजी ने जो संकल्प लिया है, उसे पूरा करने के लिए मध्यप्रदेश सदैव कटिबद्ध है।

स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 रैंकिंग
-पहला स्थान इंदौर
-दूसरा स्थान भोपाल
-तीसरा स्थान ग्वालियर
-ग्वालियर देशभर में 16वें स्थान पर
-स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में था 18वें स्थान पर
-प्रदेश में तीसरा स्थान मिला