सिर्फ 10 दिन में ही एक्शन मोड में MP सीएम मोहन यादव ने 10 भरोसेमंद अफसरों को सौंपी ये बड़ी जिम्मेदारी

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लिए डॉ. मोहन यादव को आज पूरे 10 दिन हो गए हैं। सीएम मोहन यादव अब धीरे-धीरे एक्शन मोड में आ नजर रहे हैं। सीएम ने अब 10 अफसरों को 10 संभागों की जिम्मेदारी दी है।मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने जिन 10 अफसरों को संभागों की जिम्मेदारी दी है उनमें भोपाल संभाग की जिम्मेदारी मोहम्मद सुलेमान की होगी, जबकि जबलपुर संभाग की जिम्मेदारी विनोद कुमार, रीवा की जेएन कंसौटिया, उज्जैन डॉ. राजेश राजौरा, सागर एसएन मिश्रा, इंदौर मलय श्रीवास्तव, नर्मदापुरम अजीत केसरी, शहडोल अशोक वर्णवाल, चंबल मनु श्रीवास्तव और ग्वालियर संभाग की जिम्मेदारी केसी गुप्ता को दी गई है। यह अफसर अपने-अपने संभाग की गतिविधियों से मुख्यमंत्री डॉ। मोहन यादव को अवगत कराएंगे। यह अफसर सीएम मोहन यादव को अपने-अपने संभाग और जिले की हर छोटी-बड़ी गतिविधि से अवगत कराएंगे।

अफसरों को दी ये जिम्मेदारी
मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने अफसरों को जो जिम्मेदारी दी है उसमें इन अफसरों को सीएम बैठकों के निर्देशों का संभाग में क्रियान्वयन कराना होगा। जिला-संभाग और शासन में समन्वय करना होगा। दो महीने में कम से कम एक बार संभाग के जिलों का दौरा करना अनिवार्य होगा। हर महीने एक बार वीडियो कांफ्रेंसिंग से संभागीय समीक्षा करना होगी। जिले की योजनाओं का प्राथमिकता से अपने संभाग में क्रियान्वयन करना होगा।

गृह जिले की जिम्मेदारी राजौरा को
मुख्यमंत्री डॉ। मोहन यादव ने अपने गृह जिले उज्जैन की जिम्मेदारी डॉ.राजेश राजौरा को दी है। बता दें डॉ. यादव के सीएम बनने के बाद राजेश राजौरा ने सबसे पहले धार्मिक स्थलों में अनियंत्रित और अनियमित लाउड स्पीकर पर प्रतिबंध की फाइल पर हस्ताक्षर कराए थे। अब सीएम के गृह जिले की जिम्मेदारी राजेश राजौरा के पास है।