न्यूक्लियर सामान ले जा रहे पाक जहाज पर भारत की कर्रवाई, बौखलाया चीन

Mumbai Port News: भारतीय सुरक्षा एजेंसी अलर्ट, चीन से पाकिस्तान जा रहे जहाज  को संदिग्ध परमाणु कार्गो के कारण मुंबई बंदरगाह पर रोका गया, वजह

नई दिल्‍ली । चीन से पाकिस्तान जा रहे जहाज को भारतीयों सुरक्षा एजेंसियों ने मुंबई के न्हावा शेवा बंदरगाह पर रोक लिया. सुरक्षा एजेंसियों को जानकारी मिली थी कि कराची जा रहे माल्टा के ध्वज वाले जहाज CMA CGA Attila पर इस्लामाबाद के न्यूक्लियर और बैलिस्टिक मिसाइल से जुड़े कंसाइनमेंट हैं।

यह जहाज 23 जनवरी को चीन से रवाना हुआ था. सुरक्षा अधिकारियों ने छानबीन के दौरान इटली की कंपनी द्वारा निर्मित कंप्यूटर न्यूमेरिकल कंट्रोल मशीन ( CNC) को बरामद किया. इसका इस्तेमाल मिसाइल डेवलेवमेंट प्रोग्राम में किया जाता है।

रिपोर्ट के अनुसार, जहाज पर मौजूद कंसाइनमेंट का डीआरडीओ टीम के द्वारा भी निरीक्षण किया गया. DRDO ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि पाकिस्तान इस कंसाइनमेंट का उपयोग अपने मिसाइल प्रोग्राम में कर सकता है. रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका और यूरोप द्वारा प्रतिबंधित वस्तुओं को पाकिस्तान चीन के माध्यम से प्राप्त कर रहा है।

अधिकारियों द्वारा छानबीन में प्राप्त किए गए दस्तावेजों से कंसाइनमेंट से जुड़ी अन्य डिटेल्स का भी पता चला. यह कंसाइनमेंट चीन के शंघाई जेएक्सई ग्लोबल लॉजिस्टिक कंपनी लिमिटेड द्वारा पाकिस्तान विंग्स प्राइवेट लिमिटेड, सियालकोट को भेजी गई थी. पोर्ट के अधिकारियों ने गहन छानबीन के लिए सुरक्षा एजेंसियों से संपर्क साधा और कंसाइनमेंट को सीज कर दिया. सुरक्षा एजेंसियों ने बताया कि शिप पर 22,180 किलोग्राम का कंसाइनमेंट मौजूद था।

सीनएसी मशीनें कंप्यूटर द्वारा संचालित होती हैं. इनकी मदद से कार्यक्षमता, दक्षता, और सटीकता के वे परिणाम आते हैं जो मैनुअल रूप से संभव नहीं हैं. 1996 के वासेनार समझौते के तहत इन मशीनों को प्रतिबंधित किया गया है. यह समझौता सैन्य और नागरिक दोनों उपकरणों के प्रसार पर रोक लगाता है. भारत दुनिया के उन 42 देशों के समूह में शामिल है जो पारंपरिक हथियारों और दोहरे प्रयोग वाली वस्तुओं की सूचनाओं का आदान-प्रदान करते हैं।