Pakistan Election: इमरान खान के सहयोगी पहुंचे लाहौर कोर्ट, चुनाव में धांधली का लगाया आरोप

कराची । पाकिस्तान में चुनाव परिणामों में हुई देरी को लेकर उथल-पुथल मच गई है। इसी बीच कुछ रिपोर्टों में पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के उम्मीदवारों को बढ़त या जीत की स्थिति में बताया गया है।

इसको लेकर पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) से संबद्ध स्वतंत्र उम्मीदवारों ने भी पीपी-164 और एनए-118 के परिणामों को चुनौती देते हुए लाहौर उच्च न्यायालय (LCH) का रुख किया, जहां पिता-पुत्र की जोड़ी शहबाज शरीफ और हमजा शहबाज ने जीत हासिल की।

ARY की रिपोर्ट के मुताबिक PTI के अलावा कई और लोगों ने अदालत का रुख किया और आरोप लगाया कि उनकी हार धांधली का नतीजा थी। इसके अलावा रिपोर्ट के अनुसार, वोटों में धांधली का आरोप लगाते हुए कई और उम्मीदवार अगले कुछ दिनों में उच्च न्यायालय जा सकते हैं। वहीं एक अपनी याचिका में PML-N अध्यक्ष के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले निर्दलीय उम्मीदवार यूसुफ मियो ने दावा किया कि रिटर्निंग ऑफिसर (RO) ने याचिकाकर्ता को कार्यालय में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी।

आवेदन में कहा गया, “याचिकाकर्ता की अनुपस्थिति में परिणाम घोषित किए गए,” अदालत से रिटर्निंग अधिकारी को फॉर्म 45 के अनुसार परिणाम घोषित करने का निर्देश देने का आग्रह किया गया।

PML-N उम्मीदवार के खिलाफ चुनौती

इस बीच आलिया हमजा के पति जिनकी पत्नी ने हमजा शहबाज के खिलाफ चुनाव लड़ा था. उन्होंने ARY न्यूज ने बताया कि परिणाम को चुनौती दी और कहा कि PML-N उम्मीदवार फार्म -45 के अनुसार चुनाव हार गए। दूसरी ओर डॉ. यास्मीन राशिद ने भी लाहौर के NA-130 निर्वाचन क्षेत्र में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की जीत को लाहौर उच्च न्यायालय (LHC) में चुनौती दी। एक अन्य स्वतंत्र उम्मीदवार शहजाद फारूक ने लाहौर के NA-119 से मरियम नवाज की जीत को चुनौती दी, जबकि NA-127 से एक अन्य PML-N उम्मीदवार अता तरार की जीत को PTI समर्थित स्वतंत्र उम्मीदवार जहीर अब्बास खोखर ने भी अदालत में चुनौती दी।

इस्लामाबाद में PTI उम्मीदवारों की चुनौती

इस्लामाबाद में PTI समर्थित उम्मीदवारों शोएब शाहीन और अली बुखारी ने भी क्रमशः NA-47 और NA-48 निर्वाचन क्षेत्रों के परिणामों को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय (IHC) में चुनौती दी।पत्रकारों से बात करते हुए, शोएब शाहीन ने कहा, “हमने रजिस्ट्रार कार्यालय से तत्काल सुनवाई निर्धारित करने का अनुरोध किया है। हम मुख्य न्यायाधीश से मामले में तेजी लाने का आग्रह करते हैं क्योंकि पूरा इस्लामाबाद जानता है कि एनए-47 मेरा निर्वाचन क्षेत्र है।

मेरे पास फार्म-45 है।” एआरवाई न्यूज ने बताया, ”हमने यह चुनाव भारी बहुमत से जीता है।”पीटीआई समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार ने रिटर्निंग अधिकारियों पर दबाव डालने के लिए सत्ता को जिम्मेदार ठहराया, उन्होंने कहा, “आज, आप अतीत में किए गए अपराध को दोहरा रहे हैं। अब एकमात्र उम्मीद न्यायपालिका बची है।