इजराइली हवाई हमले में आतंकवादी समूह हिजबुल्ला के वरिष्ठ कमांडर की मौत, अभी जारी रहेगा युद्ध

नई दिल्‍ली । लेबनान के एक सुरक्षा अधिकारी ने सोमवार को कहा कि दक्षिणी लेबनान में इजराइली हवाई हमले में आतंकवादी समूह हिजबुल्ला के एक वरिष्ठ कमांडर की मौत हो गई। यह हत्या ऐसे वक्त हुई है जब लेबनान-इजराइल सीमा पर ईरान समर्थित हिजबुल्ला आतंकवादियों और इजराइली सेना के बीच झड़पें तेज हो गई हैं।

इजराइली हमले में बेरूत में आतंकवादी फलस्तीनी समूह हमास के शीर्ष अधिकारी की मौत के लगभग एक सप्ताह बाद यह हमला हुआ है। ताजा हमले से दो दिन पहले हिजबुल्ला ने जवाबी कार्रवाई में उत्तरी इजरायल के माउंट मेरोन में इजरायली सैन्य अड्डे पर व्यापक मिसाइल हमला किया था। इज़रायली सेना ने हमले के बारे में तुरंत कोई टिप्पणी नहीं की। उसने कहा कि लड़ाकू विमानों ने दक्षिणी लेबनान में हिजबुल्लाह के बुनियादी ढांचे को निशाना बनाया है।

लेबनानी सुरक्षा अधिकारी ने, नियमों के अनुरूप नाम न छापने की शर्त पर कहा कि इजराइल ने हिजबुल्लाह के विशिष्ट राडवान फोर्सेस के एक कमांडर को मारा है। अधिकारी ने हालांकि कमांडर का नाम नहीं बताया। अधिकारी ने बताया कि दक्षिणी गांव खिरबेट सेल्म में एक होंडा एसयूवी को निशाना बनाया गया। उस वक्त कमांडर उसे चला रहा था। इस घटना पर टिप्पणी के अनुरोधों को लेकर हिजबुल्ला ने तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की।

इजराइल ने कहा-युद्ध अभी जारी रहेगा

इज़राइल ने कहा कि उसने उत्तरी गाजा में बड़े पैमाने पर बड़े अभियानों को पूरा कर लिया है क्योंकि उसका ध्यान मध्य क्षेत्र और खान यूनिस के दक्षिणी शहर पर केंद्रित है। अधिकारियों ने कहा कि लड़ाई कई महीनों तक जारी रहेगी क्योंकि तेल अवीव हमास को खत्म करना चाहता है और समूह के 7 अक्टूबर के हमले के दौरान बंधक बनाए गए बंधकों को वापस लाना चाहता है। गाजा में इजराइल की बमबारी में 23,000 से अधिक फिलिस्तीनी मारे गए, जिससे इलाका तबाह हो गया और इसकी 23 लाख की आबादी में से लगभग 85 प्रतिशत लोग विस्थापित हो गए। इस युद्ध ने पूरी दुनिया का ध्यान खींचा है लेकिन इसे रोक पाने के सारे प्रयास व्यर्थ हुए।