पाकिस्तान के 90,675 मतदान केंद्रों में आधे संवेदनशील

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में आठ फरवरी को आम चुनाव होंगे। इनके मद्देनजर स्थापित किए जा रहे अधिकांश मतदान केंद्रों को संवेदनशील या अत्यधिक संवेदनशील घोषित किया गया है। देश के 90,675 मतदान केंद्रों में से 46,065 को संवेदनशील के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इनमें से 18,437 अत्यधिक संवेदनशील हैं।

रिपोर्ट में इस पर विस्तृत चर्चा की गई है। रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब में ‘संवेदनशील’ और ‘सबसे संवेदनशील’ मतदान केंद्रों की कुल संख्या 18,620 है। इनमें से 6,040 को सर्वाधिक संवेदनशील के रूप में वर्गीकृत किया गया है। पंजाब के कुल 50,944 मतदान केंद्रों में से 32,000 से अधिक को ‘सामान्य’ घोषित किया गया है। सिंध में 6,545 ‘संवेदनशील’ और 6,524 ‘सबसे संवेदनशील’ मतदान केंद्र हैं। प्रांत के कुल 19,006 मतदान केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं।

खैबर पख्तूनख्वा में, ‘संवेदनशील’ और ‘सबसे संवेदनशील’ मतदान केंद्रों की संख्या 10,309 है। इसमें 6,166 ‘संवेदनशील’ और 4,143 ‘अति संवेदनशील’ हैं। प्रांत में मतदान केंद्रों की कुल संख्या 15,697 है। बलूचिस्तान में तो स्थिति और भी खराब है। यहां सामान्य मतदान केंद्रों का अनुपात 20 प्रतिशत से भी कम है। मतदान केंद्रों की कुल संख्या 5,028 है। इनमें से केवल 961 को ‘सामान्य’ घोषित किया गया है, जबकि बाकी को 2,337 ‘संवेदनशील’ और 1,730 ‘अति संवेदनशील’ मतदान केंद्रों में विभाजित किया गया है।