2024 में यूक्रेन – रूस युद्ध को तीन साल हो जाएंगे पूरे, पुतिन की अब भी बम बरसाते रहने की धमकी

नई दिल्ली। 2024 फरवरी में यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध को तीन साल पूरे हो जाएंगे। ताजा हालातों को देखते हुए लग रहा है कि यूक्रेन और रूस में चल रही जंग अभी सालों तक चलेगी। जापान की मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पुतिन अभी यूक्रेन में जंग रोकने की नहीं सोच रहे हैं। उन्होंने यूक्रेन पर बम बरासते रहने की धमकी दी है। रूस और यूक्रेन के बीच फरवरी 2022 से चल रहा युद्ध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। लाखों की संख्या में रूसी सेना यूक्रेन के अलग-अलग इलाकों में खूबसूरत शहरों पर बम बरसा रहे हैं। इस युद्ध में हजारों की संख्या में लोगों की जान जा चुकी है और लाखों की संख्या में लोग विस्थापित हो चुके हैं। रूस को भी इस युद्ध में काफी नुकसान हुआ है। अमेरिका और पश्चिम देशों की मदद से यूक्रेनी लड़ाके रूसी हमले का मुंह तोड़ जवाब दे रहे हैं।

यह रिपोर्ट हाल ही में पुतिन और जिनपिंग की मुलाकात के बाद सामने आई है। उधर, यूक्रेन पर गहराते संकट के बीच अमेरिका ने अपना खजाना खोला है। अमेरिका ने यूक्रेन को 250 मिलियन अमेरिकी डॉलर की नई मदद भेजी है। अब तक अमेरिका यूक्रेन को 44 बिलियन अमेरिका डॉलर की मदद कर चुका है।

रूस ने रात भर में गिराए 46 ड्रोन
गुरुवार को युद्ध के ताजा अपडेट में पता लगा है कि बुधवार देर रात यूक्रेन के दक्षिणी ओडेसा क्षेत्र में रूसी बलों ने रात भर दर्जनों हवाई हमले किए। ईरानी ड्रोन अटैक से दो लोगों की मौत की खबर है, जबकि चार अन्य बुरी तरह घायल हैं। यूक्रेन वायु सेना ने मामले में बयान दिया कि उसने रूस द्वारा लॉन्च किए गए 46 ईरानी निर्मित ड्रोनों में से 32 को मार गिराया। स्थानीय गवर्नर ऑलेक्ज़ेंडर प्रोकुडिन ने कहा कि खेरसॉन क्षेत्र और इसकी राजधानी पर हमले से आवासीय क्षेत्रों और एक मॉल बुरी तरह बर्बाद हो गए। पावर ग्रिड को भी नुकसान पहुंचा है। खेरसॉन शहर के लगभग 70 प्रतिशत घरों में बिजली नहीं है।

इस बीच जापानी मीडिया संस्था निक्की एशिया ने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि मार्च में मॉस्को में एक बैठक के दौरान रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने चीनी समकक्ष शी जिनपिंग से कहा था कि रूस यूक्रेन में “कम से कम पांच साल तक लड़ा जाएगा”। सूत्रों का यह भी कहना है कि पुतिन मौजूदा युद्ध की स्थिति को लेकर रूसी सेना के बैकफुट पर जाने से नाखुश थे। उन्होंने शी जिनपिंग को आश्वस्त किया कि अंत में रूस की ही विजय होगी।

बता दें कि फरवरी 2022 में मास्को द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण शुरू करने के बाद यह शी जिनपिंग की रूस की पहली यात्रा थी। चीन द्वारा अपनी जीरो कोविड नीति को हटाए जाने के बाद यह पहली बार था जब जिनपिंग ने किसी विकसित और अग्रणी देश का दौरा किया।

यूक्रेन के लिए अमेरिका ने फिर खोला खजाना
रूस के बढ़ते हमलों के बीच संयुक्त राज्य अमेरिका ने घोषणा की है कि वह यूक्रेन के लिए 250 मिलियन डॉलर के हथियार और उपकरण जारी करेगा। यह इस साल का अंतिम पैकेज होगा। इस राहत पैकेज में तोपखाने और वायु रक्षा प्रणालियों के लिए गोला-बारूद के साथ-साथ कवच-रोधी गोला-बारूद और 15 मिलियन से अधिक राउंड छोटे हथियार गोला-बारूद शामिल हैं। अमेरिकी प्रशासन के अनुसार, फरवरी 2022 में रूस के यूक्रेन पर पूर्ण पैमाने पर आक्रमण के बाद से अमेरिका ने यूक्रेन को लगभग 44.3 बिलियन डॉलर की सैन्य सहायता प्रदान की है।