पाकिस्‍तान में चुनावी धांधली के आरोपों की जांच करने के लिए ईसीपी कमेटी बनी

इस्लामाबाद। रावलपिंडी के आयुक्त लियाकत अली चट्ठा की तरफ से लगाए गए चुनावी धांधली के आरोपों की जांच के लिए पाकिस्तान चुनाव आयोग (ईसीपी) ने उच्चस्तरीय समिति का गठन किया है। चुनावी प्रक्रिया से जुड़े विभिन्न आलाधिकारियों का बयान दर्ज कर यह कमेटी तीन दिनों के भीतर रिपोर्ट देगी।

रावलपिंडी के आयुक्त लियाकत अली चट्ठा द्वारा लगाए गए चुनावी धांधली के आरोपों की जांच के लिए गठित उच्चस्तरीय समिति में सचिव, विशेष सचिव और अतिरिक्त महानिदेशक (कानून) सहित चुनाव आयोग के वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे। कमेटी रिटर्निंग अधिकारियों और जिला रिटर्निंग अधिकारियों के बयान दर्ज करेगी और तीन दिनों के भीतर आयोग को रिपोर्ट पेश करेगी। पिंडी आयुक्त के खिलाफ ईसीपी की अवमानना सहित कोई कानूनी कार्रवाई की जाएगी या नहीं, इस पर निर्णय रिपोर्ट के निष्कर्षों का विश्लेषण करने के बाद किया जाएगा।

ईसीपी की तरफ से कमेटी के गठन की घोषणा शनिवार को हुए उस घटनाक्रम के बाद की गई है जब चट्ठा ने मुख्य चुनाव आयुक्त और मुख्य न्यायाधीश पर चुनावी गड़बड़ियों में शामिल होने का सनसनीखेज आरोप लगाते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। चट्ठा का दावा था कि जीत रहे पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) समर्थित स्वतंत्र उम्मीदवारों को हराया गया।

पाकिस्तान में आम चुनाव के नतीजे आए एक सप्ताह से अधिक का समय गुजर चुका है लेकिन अबतक सरकार गठन की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई है। पाकिस्तान में 8 फरवरी को चुनाव हुए थे और इसी दिन मतों की गिनती शुरू हो चुकी थी जो अगले दो दिनों तक जारी रही। पीटीआई ने आम चुनाव में धांधली और जनादेश की चोरी का आरोप लगा रही है।