कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव:शशि थरूर की एंट्री !

0
37

नई दिल्ली।एजेंसी
‘जो कोई भी कांग्रेस अध्यक्ष बनेगा, वह गांधी परिवार की फाइलों को लेकर चलने वाले चपरासी की तरह होगा.’ कांग्रेस के पहले परिवार को लेकर पार्टी छोड़ने से ठीक पहले यह ना सिर्फ गुलाम नबी आजाद के आखिरी बयान हैं, बल्कि पूरी चुनावी प्रक्रिया के बारे में जनता की धारणा है कि पार्टी आखिरकार बैकफुट पर जाने के महीनों के बाद अब रफ्तार पकड़ने की कोशिश कर रही है. भाजपा द्वारा मनमोहन सिंह-सोनिया गांधी समीकरण – जिसे रिमोट कंट्रोल की सरकार कहा जाता है – की तुलना को ध्यान में रखते हुए, कांग्रेस का वर्तमान नेतृत्व चाहता है कि पार्टी अध्यक्ष पद के लिए अधिक-से-अधिक उम्मीदवार आएं और इस चुनावी प्रक्रिया में शामिल होकर सबके सामने लोकतंत्र की भावना जाहिर करें.
शशि थरूर के अलावा अशोक गहलोत और मल्लिकार्जुन खड़गे को शामिल करते हुए संभावित उम्मीदवारों की सूची थोड़ी लंबी हो गई है. मलयालम दैनिक मातृभूमि के लिए एक लेख में, थरूर ने कहा कि चुनाव ‘स्वतंत्र और निष्पक्ष’ हो. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को 2020 में पत्र लिखकर संगठनात्मक सुधारों की मांग करने वाले 23 नेताओं के समूह में शामिल रहे थरूर ने कहा, ‘एआईसीसी तथा पीसीसी प्रतिनिधियों से पार्टी के सदस्यों को यह फैसला लेने कि इजाजत दें कि इन अहम पदों पर पार्टी का नेतृत्व कौन करेगा, इससे आने वाले नेताओं के समूह को वैध बनाने तथा पार्टी का नेतृत्व करने के लिए उन्हें विश्वसनीय जनादेश देने में मदद मिलेगी.’
17 अक्टूबर को चुनाव होगा
कांग्रेस ने अपना नया अध्यक्ष चुनने से संबंधित विस्तृत कार्यक्रम की 28 अगस्त को घोषणा की. इसके मुताबिक 24 सितंबर से नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया आरंभ होगी और एक से अधिक उम्मीदवार होने पर 17 अक्टूबर को चुनाव होगा. पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की ऑनलाइन बैठक में कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण की ओर से पेश चुनाव कार्यक्रम को मंजूरी दी गई. कांग्रेस अध्यक्ष को चुनने के लिए 9000 से अधिक प्रतिनिधि (डेलीगेट्स) मतदान कर सकेंगे.

Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY