इस बड़ी परेशानी के कारण तुर्की ने अपना नाम बदलकर किया तुर्किये, संयुक्त राष्ट्र ने दी मंजूरी

0
144
तुर्किये’ के नाम से जाना जाएगा देश तुर्की।सरकार द्वारा संचालित समाचार एजेंसी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। इस कदम को अंकारा द्वारा देश की छवि में बदलाव करने और पक्षी, टर्की तथा इसके साथ जुड़े कुछ नकारात्मक अर्थों से अपना नाम अलग करने के लिए प्रयास के हिस्से के रूप में देखा जाता है।
अंकारा।तुर्की के विदेश मंत्री मेवलुत कावुसोग्लू ने संयुक्त राष्ट्र को एक पत्र भेजकर औपचारिक रूप से अनुरोध किया है कि उनके देश को “तुर्किये” के रूप में संदर्भित किया जाए। संयुक्त राष्ट्र द्वारा अनुरोध को स्वीकार कर लिया गया है। सरकार द्वारा संचालित समाचार एजेंसी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। इस कदम को अंकारा द्वारा देश की छवि में बदलाव करने और पक्षी, टर्की तथा इसके साथ जुड़े कुछ नकारात्मक अर्थों से अपना नाम अलग करने के लिए प्रयास के हिस्से के रूप में देखा जाता है। अनादोलु एजेंसी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुतारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने बुधवार देर रात पत्र मिलने की पुष्टि की। एजेंसी ने दुजारिक के हवाले से कहा कि नाम परिवर्तन “उस क्षण से” प्रभावी हो गया था जब पत्र प्राप्त हुआ था। राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन की सरकार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त नाम तुर्की को “तुर्किये” (तूर-की-येय) में बदलने के लिए दबाव डाल रही है क्योंकि यह तुर्की में वर्तनी और उच्चारण है। स्वतंत्रता की घोषणा के बाद 1923 में देश ने खुद को “तुर्किये” कहा था। वह इस गद्दी को सबसे ज्यादा वक्त तक संभालने वाली हस्ती हैं और सात दशक से इस पद पर काबिज हैं। बकिंघम पैलेस ने बृहस्पतिवार को घोषणा की कि महारानी शुक्रवार को गिरजाघर में आयोजित कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी क्योंकि दिन में एक कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद उन्हें ‘‘कुछ बेचैनी’’ महसूस हुई थी। पैलेस ने कहा कि राजशाही ने सेंट पॉल कैथेड्रल में सेवा कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का निर्णय लिया है। महारानी एलिजाबेथ ने विंडसर कैसेल में बृहस्पतिवार की रात आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। यह जुबली समारोह सप्ताहांत तक चलेगा। पैलेस ने कहा कि ‘‘क्वीन को बृहस्पतिवार को आयोजित कार्यक्रम में बहुत आनंद आया।’’ प्लेटिनम जुबली के रंगारंग कार्यक्रमों की शुरुआत बृहस्पतिवार को सेना की परेड के साथ हुई। महारानी ने बकिंघम पैलेस में राजपरिवार के अन्य वरिष्ठ सदस्यों के साथ परेड और जमा हुई भीड़ का अभिवादन स्वीकार किया। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने उनके सत्तासीन होने के 70 वर्ष पूरे होने के मौके पर बृहस्पतिवार से शुरू हो रहे चार दिन के समारोहों के आयोजन तथा शुभकामनाओं के लिए अपने देश और राष्ट्रमंडल के सदस्य देशों का आभार जताया है।
Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY