केंद्र सरकार ने फिर कहा- किसानों से बातचीत के लिए तैयार, कृषि मंत्री बोले- आंदोलन का रास्ता छोड़ें किसान

0
0

मुरैना:कृषि कानूनों के विरोध में कई महीनों से आंदोलन कर रहे किसान संगठनों को केंद्र सरकार ने फिर बातचीत का प्रस्ताव दिया है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने रविवार को कहा कि मैं किसानों से गुजारिश करता हूं कि वे आंदोलन छोड़कर बातचीत का रास्ता अपनाएं। सरकार उनकी ओर से बताई गई आपत्ति पर विचार करने के लिए तैयार है। इससे पहले भी कई बार बात हो चुकी है। इसके बाद भी उन्हें लगता है कि कोई बात बची है तो सरकार उस पर जरूर बात करेगी।
गौरतलब है कि किसान आंदोलन के कारण सरकार को कई बार असहज स्थिति का सामना करना पड़ा है। किसान तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग कर रहे हैं। दिल्ली के विभिन्न बॉर्डर पर किसान 9 महीने से आंदोलन कर रहे हैं।जबकि सरकार उनकी बात सुनने के लिए तैयार नहीं है. दोनों ही पक्ष अपनी-अपनी बात पर अड़े हुए हैं।
किसान मोर्चा का आज भारत बंद
नेताओं की लोगों से घर पर रहने की अपील
सोनीपत ।केंद्र सरकार द्वारा पारित 3 कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन लगातार जारी है. संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर कल सोमवार को किसानों का भारत बंद का आह्वान किया गया है. साथ ही किसान नेताओं ने आम लोगों की अपील की है कि वे कल अनावश्यक घर से बाहर न निकलें.
संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से बुलाए गए भारत बंद के दौरान सड़क मार्ग, रेलवे यातायात और सभी सरकारी और गैर सरकारी दफ्तर बंद रहेंगे. किसान मोर्चा ने सोमवार सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक भारत बंद का ऐलान किया है.सोनीपत स्थित पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में किसान नेताओं ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि किसान आंदोलन को तेज करने के लिए संयुक्त किसान मोर्चा अलग-अलग रणनीति बना रहा है. कृषि कानूनों के विरोध में सोमवार को पूरा देश बंद रहेगा.साथ ही किसान नेताओं ने आम जनता से अपील की है कि वे बेवजह घरों से बाहर ना निकलें अन्यथा परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

LEAVE A REPLY