वर्ष 2023 तक ग्वालियर में होगा विश्व स्तरीय एयरपोर्ट; यहां से उड़ान भर सकेंगे A-320 जैसे प्लेन

0
13

केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर के विकास का ब्लू प्रिंट जारी किया
ग्वालियर ।ग्वालियर में केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने घोषणा की है कि वह भूमि पूजन में नहीं लोकार्पण में विश्वास करते हैं। सिंधिया ने कहा कि आने वाले सालों में ग्वालियर में विश्व स्तरीय आधुनिक एयरपोर्ट होगा। जहां हवाई जहाज की पार्किंग, रिपेयरिंग से लेकर देश के सभी बड़े शहरों से एयर कनेक्टिविटी होगी। इतना ही नहीं साल 2023 तक 450 करोड़ रुपए से यह एयरपोर्ट बनकर तैयार हो जाएगा।
इसके अलावा, सिंधिया ने ड्रीम प्रोजेक्ट स्वर्ण रेखा नदी (नाला) क्षेत्र में करीब 14.7 किलोमीटर लंबी एलिवेटेड रोड पर भी अफसरों से खुलकर बात की। उसके पहले फेज के लिए लक्ष्मीबाई स्टेच्यु से आईआईआईटीम तक रोड के लिए जल्द काम शुरू करने के लिए कहा है। इसी तरह, ग्वालियर रेलवे स्टेशन जल्द आधुनिक बिल्डिंग के रूप में दिखेगा, लेकिन इसके ऐतिहासिक स्वरूप को यथावत रखा जाएगा।
गुरुवार को केन्द्रीय मंत्री ने कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। उनका सबसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम एयरपोर्ट के विस्तार के लिए प्रस्तावित जमीन को देखना रहा। वह काफिले के साथ आलू अनुसंधान केन्द्र पहुंचे। यहां एयरपोर्ट के लिए प्रस्तावित जमीन को देखा। यहां नए एयरपोर्ट का मैप भी सिंधिया को दिखाया गया। सिंधिया ने मैप पर ही अपने पेन से टिक कर एयरपोर्ट के एन्ट्रेस के संबंध में कुछ टिप्स दिए हैं। एयरपोर्ट के विस्तार के लिए जमीन देखने के बाद वह कलेक्टोरेट पहुंचे। यहां विजन डॉक्यूमेंट पर अफसरों से बात कर समीक्षा की।
एलिवेटेड रोड को लेकर सिंधिया दिखे उत्साहित
बैठक में विजन डॉक्टयूमेंट के केन्द्रीय मंत्री सिंधिया के ड्रीम प्रोजेक्ट एलिवेटेड रोड पर उन्होंने अफसरों से सवाल-जवाब किए। एलिवेटेड रोड के बारे में बता दें कि ग्वालियर में स्वर्ण रेखा नदी जो अब नाला में बदल गई है, शहर के बीच से गुजरती है। इस पर एक रिंग रोड जिसे एलिवेटेड रोड कहा गया है। यह बनाने का प्रस्ताव काफी समय से प्रस्ताव ही बना है। सिंधिया इस एलिवेटेड रोड के प्रोजेक्ट को लेकर काफी उत्साहित हैं।सिंधिया ने कहा कि स्वर्ण रेखा पर एलिवेटेड रोड का काम जल्द शुरू होगा। बजट की समस्या दूर हो गई है। अगली बार आएंगे तो इस एलिवेटेड रोड के पहले फेज आईआईआईटीम से लक्ष्मीबाई समाधि तक 6 किलोमीटर की रोड का भूमि पूजन करेंगे। इसके बाद 8.7 किलोमीटर की सड़क जो लक्ष्मीबाई समाधि से गिरवाई हनुमान बांध तक जाएगी उसका काम सेकंड फेस में शुरू होगा।
ऐसा एयरपोर्ट बनाएंगे सब देखते रह जाएंगे
केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एयरपोर्ट को लेकर भी स्थिति साफ की है। उन्होंने कहा है कि 450 करोड़ रुपए की लागत से वर्ष 2023 तक एक शानदार और आधुनिक तकनीक से लैस एयरपोर्ट ग्वालियर को मिलेगा। यहां एयरोप्लेन खड़े करने के लिए पार्किंग होगी, रिपेयरिंग सेल होगी। अन्य वह सभी सुविधाएं होंगी, तो एक विश्व स्तरीय एयरपोर्ट में होती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि यह मेरे पिताजी का सपना था, मेरी दादी का नाम इससे जुड़ा है। इसलिए एक आधुनिक एयरपोर्ट बनाना मेरा दायित्व नहीं धार्मिक कर्तव्य है।
सुंदरता और ऐतिहासिकता दोनों बनी रहे
विजन डॉक्यूमेंट में सिंधिया ने रेलवे स्टेशन के कायाकल्प पर भी फोकस किया है। केन्द्रीय मंत्री सिंधिया का कहना है कि ग्वालियर रेलवे स्टेशन को और अधिक सुविधा जनक बनाने के लिए बात हो गई है। जल्द रेलवे की नई बिल्डिंग बनेगी। पर मेरा साफ कहना है कि नया भवन बनेगा, लेकिन वर्तमान ऐतिहासिक भवन को भी यथावत रखा जाएगा। जिससे सुंदरता के साथ इतिहास भी नजर आए।
चंबल से पानी लाने पर भी खुलकर बोले सिंधिया
ग्वालियर में चंबल से पानी लाने के प्रोजेक्ट पर केन्द्रीय मंत्री सिंधिया का कहना है कि यह प्रोजेक्ट दो चरणों में होगा। एक चंबल से पानी लाने का और दूसरा उस पानी को हर घर तक पहुंचाने का। इसके लिए ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह, प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट को बोला है।

LEAVE A REPLY