केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने नौकरी के लिए दुबई जाने वाली भिण्ड की बेटी की की मदद

0
653

– बीच भँवर में फंसे दुबई जाने वाले यात्रियो की समस्या को डॉ रमेश दुबे के आग्रह पर उड्डयन मंत्री सिंधिया ने की तत्काल कार्यवाही
भिण्ड । अजयभारत न्यूज
जब कोई बीच भँवर फंस जाए और कोई रास्ता नज़र न आये,ऐसे में कोई हाथ बढ़ाकर उस भँवर से से निकाल ले,तो ऐसी मित्रता विरले ही देखने को मिलती है।
ऐसा ही एक वाकया नवी मुंबई में रहने वाले उद्यमी विपिन प्रकाश दुबे के साथ घटित हुआ , उनकी बेटी की नोकरी दुबई में कन्फर्म हो गयी थी और उन्हें जॉइन करने के लिए दुबई जाना था, अचानक से आये बुलावा से वैसे ही दुबे परिवार की धड़कनें बढ़ी हुई थीं, विपिन प्रकाश ने आनन फानन में अपनी बेटी का एयर इंडिया की फ्लाइट से बुक किया,उक्त फ्लाइट को भारतीय समयानुसार शाम 4 बजे उड़ान भरनी थी, दुबे परिवार ने अपनी बेटी को दुबई भेजने की सारी तैयारियां कर ली थीं लेकिन दुबई एम्बेसी, इंडियन एम्बेसी, जीडीआरएफ एवं अन्य अथॉरिटीज ने ये स्पष्ट किया कि दुबई जाने वाले लोग 30 अगस्त के बाद ही जा सकते हैं,उससे पहले कोई भी यात्री टूरिस्ट या अन्य किसी वीज़ा पर दुबई की यात्रा नहीं कर सकता है, और इससे पहले की कोई भी गाइडलाइन पोर्टल पर नज़र नहीं आ रही थी, यद्यपि एयरलाइंस कम्पनियां उक्त गाइडलाइन के बारे में न तो यात्रियों को अवगत करा रही थीं और नाहीं टिकिटों की बुकिंग रोक रही थीं, ऐसे में दुबई यात्रा करने वाले सैकड़ों यात्रियों के लिए बहुत जटिल कन्फ्यूजन पैदा हो गया, सैकड़ों यात्री स्वयं को अधर में लटका महसूस कर रहे थे,उनमें से एक विपिन प्रकाश दुबे की बेटी भी थी।
ऐसी परिस्थिति में विपिन प्रकाश को कोई रास्ता नहीं सूझ रहा था कि तभी उन्हें अपने स्कूल कॉलेज के जमाने के बचपन के साथी केंद्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया जी की टीम के सदस्य भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ रमेश दुबे की याद आई और उन्होंने बिना देर किए अपनी सारी परेशानी डॉ दुबे के सामने ऐसे रख दी मानो अब वही खेवनहार हों, बरसों बाद मित्र की पुकार सुन डॉ रमेश दुबे ने सबसे पहले विपिन प्रकाश को धैर्य रखने को कहा और अपनी सारी समस्या लिखकर भेजने को कहा, जैसे ही विपिन प्रकाश के द्वारा आई लिखित समस्या को भाजपा नेता डॉ रमेश दुबे ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया को फॉरवर्ड कर उन्हें मोबाइल पर सैकड़ों यात्रियों की उक्त समस्या से अवगत कराया वैसे ही नागरिक उड्डयन मंत्री सिंधिया ने त्वरित आदेश जारी करते हुए विभागाधीन अधिकारियों को इस समस्या के निराकरण के लिए आदेशित किया। विभाग के अधिकारियों ने फोन से विपिन से सम्पर्क किआ और ठीक आधे घण्टे के बाद ही एयर इंडिया की गाइडलाइन पोर्टल पर दिखने लगी जिसमें स्पष्ट लिखा था कि संयुक्त अरब अमीरात के दुबई जाने वाले यात्री कभी भी जा सकते हैं और ये गाइडलाइन 30 अगस्त के शुरू होने से ही लागू होगी।जैसे ही उक्त गाइडलाइन पोर्टल पर दिखाई देने लगी, उन सैकड़ों यात्रियों ने राहत की सांस ली जो इस उधेड़बुन में फंसे हुए थे।
खुशी का ठिकाना नहीं
नवी मुंबई निवासी उद्यमी विपिन प्रकाश दुबे इस अपराजेय समस्या के समाधान के बाद बेहद प्रसन्न थे, आखिर उनके मित्र ने उनकी बेटी की इतनी बड़ी जटिल समस्या को गम्भीरता से लेते हुए सुलझाया जिसकी वजह से सैकड़ों यात्रियों को भी सहूलियत मिली, अपने मित्र डॉ रमेश दुबे के इस उपकार के लिए उन्होंने पत्र लिखकर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं डॉ दुबे को धन्यवाद ज्ञापित किया है।भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य डॉ रमेश दुबे ने भी केंद्रीय मंत्री श्रीमंत सिंधिया के प्रति आभार प्रकट किया है।

LEAVE A REPLY