रिश्वत लेते पकड़ा कलेक्टोरेट का बाबू

0
0

आरएनआई रजिस्ट्रेशन की फाइल को अटकाकर डिप्टी कलेक्टर के बाबू ने मांगी थी रिश्वत
कर रहा था परेशान, 900 रुपए रिश्वत लेते ही रंगे हाथ पकड़ा गया
ग्वालियर । अजयभारत न्यूज
ग्वालियर में बुधवार दोपहर डिप्टी कलेक्टर कार्यालय में पदस्थ बाबू को 900 रुपए की रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा है। बाबू एक युवक के आरएनआई रजिस्ट्रेशन की फाइल को एक महीने से ज्यादा समय से अटकाए हुए था। जब युवक ने कारण पूछा तो उसने 1 हजार रुपए रिश्वत मांगी। 900 रुपए में फाइल को आगे बढ़ाना तय हुआ। युवक ने मामले की शिकायत लोकायुक्त पुलिस में की।
बुधवार दोपहर बाबू अपने कार्यालय में बैठा था। जैसे ही युवक ने उसे 900 रुपए दिए उसने लेकर जेब में रख लिए, तभी लोकायुक्त के अफसरों ने बाबू की कलाई थाम ली। कैमिकल लगाकर जैसे ही बाबू के हाथ पानी में लगाए तो रंग गुलाबी हो गया। लोकायुक्त ने भ्रष्टाचार का मामला दर्ज कर लिया है। बाबू को सस्पेंड करने की कार्रवाई भी की जा रही है।
लोकायुक्त एसपी संजीव सिन्हा ने बताया कि दो दिन पहले फोर्ट रोड सुमेर सिंह का बाड़ा निवासी सौरभ पुत्र रविन्द्र कुमार ने शिकायत की थी कि डिप्टी कलेक्टर संजीव खेमरिया के कार्यालय में पदस्थ बाबू रविन्द्र सिंह राजपूत आरएनआई के रजिस्ट्रेशन के लिए एक हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा है। रिश्वत ना देने पर काफी समय से फाइल को अटकाए हुए है। आगे फाइल को नहीं बढ़ा रहा है। साथ ही धमकी दे रहा है कि रजिस्ट्रेशन नहीं होने देगा। शिकायत पर एक दिन पहले सौरभ ने बाबू से बातचीत की और एक हजार रुपए से उसे 900 रुपए पर की रिश्वत पर राजी कर लिया। यह पूरी बातचीत रिकॉर्डिग डिवाइस में लोकायुक्त पुलिस को सौंपी। जिसके बाद बुधवार को डिप्टी कलेक्टर के बाबू को ट्रैप करने की प्लानिंग की गई। सौरभ कैमिकल लगे 900 रुपए लेकर कलेक्टोरेट पहुंचे। यहां बाबू रविन्द्र सिंह राजपूत को उन्होंने रुपए दिए तो तत्काल उन्होंने लेकर जेब में रखे और बोले आपका काम हो जाएगा। पर इसी समय दफ्तर में लोकायुक्त अफसर पहुंचा और बाबू का हाथ पकड़कर बोले कि आपका काम हो गया है। इसके बाद कार्यालय में सभी के सामने उसके हाथ पानी में धुलाए तो कैमिकल के कारण पानी गुलाबी हो गया। साथ ही रिकॉडिंग और अन्य साक्ष्य के आधार पर भ्रष्टाचार का मामला दर्ज कर लिया है।
——————————————
सिर झुकाए बैठा रहा
जिस दफ्तर में बाबू रविन्द्र सिंह सिर उठाकर बैठा रहता था वहीं रिश्वत लेते पकड़े जाने के बाद वह सिर झुकाए बैठा रहा। करीब एक घंटे लोकायुक्त पुलिस कार्रवाई करती रही और वह हां और न में जवाब देता रहा।

काले हिरण का शिकार कर ले जा रहे शिकारी गिरफ्तार
ग्वालियर । देहात की हस्तिनापुर थाना पुलिस ने सिरसौद चौराहे के पास बाइक पर काले हिरण का शिकार कर बोरे में ले जा रहे बाइक सवार को गिरफ्तार किया है ।युवक का 1 साथी भाग निकला पुलिस उसकी तलाश कर रही है ।जानकारी के अनुसार बीती रात हस्तिनापुर थाने की पुलिस सिरसौद चौराहे के पास गश्त कर रही थी तभी बाइक सवार दो युवक बोरे में कुछ ले जाते नजर आए। पुलिस ने उन्हें रोकना चाहा तो है भागने लगे तभी पुलिस ने पीछा किया और बाइक सवार युवक को दबोच लिया ।उसका साथ ही भाग निकला पुलिस ने जब बोरा खोला तो उसमें मृत हालत में काला हिरण था। पकड़े गए युवक का नाम कमल मोगिया बताया गया है उसका साथी बाल सिंह भाग गया पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

कारोबारी ने जहर खाकर की आत्महत्या
ग्वालियर । शहर के जनक गंज थाना क्षेत्र में स्थित नाग देवता मंदिर के पास रहने वाले एक सर्राफा कारोबारी ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली ।पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार जनक गंज थाना क्षेत्र के नाग देवता मंदिर के पास रहने वाले सराफा को कारोबारी नरसिंह दास अग्रवाल 65 वर्ष ने जहरीला पदार्थ खा लिया। हालत बिगड़ने पर परिजन न्अस्पताल लेकर गए जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई ।घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर आ गई और मृतक के शव को पीएम के लिए भी मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY