MP में आज खुल गए सरकारी स्कूल, डेढ़ साल बाद छात्रों की मौजूदगी से गुलजार हुए विद्यालय

0
0

भोपाल: मध्य प्रदेश में आज से सरकारी स्कूलों की घंटी बज गई. स्कूलों में डेढ़ साल बाद छात्रों की मौजूदगी दिखाई दी. यूनिफॉर्म में छात्र स्कूल पहुंचे. लंबे समय बाद स्कूल पहुंचे छात्रों के चेहरे पर स्कूल खुलने की खुशी नजर आई. कोरोना काल के कारण स्कूल पूरी तरीके से बंद किए गए थे, लेकिन अब शिक्षा विभाग के आदेश जारी होने के बाद स्कूलों के दरवाजे छात्रों के लिए खोल दिए गए हैं. कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन कराते हुए स्कूलों में कक्षाएं लगना शुरू हो गई हैं. हालांकि पहले दिन स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति कम नजर आई. स्कूल प्रबंधन के द्वारा सीमित संख्या में ही छात्रों को स्कूल बुलाया गया. राज्य सरकार के जारी आदेश के मुताबिक, स्कूल में रोटेशन के तहत कक्षाएं लग सकेंगी. 12वीं और ग्यारहवीं की कक्षाएं लगाने के लिए रोटेशन अपनाने के निर्देश हैं. राजधानी के ज्यादातर सरकारी स्कूलों में आज 12वीं का कक्षाएं लगाई गईं.
स्कूल पहुंचे छात्रों ने कहा कि डेढ़ साल बाद स्कूल खुलने पर उन्हें खुशी हो रही है. ऑनलाइन हो रही पढ़ाई से ज्यादा ऑफलाइन की पढ़ाई कारगर होती है. पुराने दोस्तों से मिलने पर भी छात्रों ने खुशी जताई है. वहीं, शिक्षकों ने भी छात्रों को पढ़ाना शुरू कर दिया है. स्कूलों में छात्रों को कोरोना वायरस से बचाने के लिए हर 2 घंटे में टॉयलेट की सफाई करने और छात्रों के स्कूल पहुंचने पर उनके हाथ सैनिटाइज कराने की व्यवस्था है.
5 अगस्त से हाई स्कूल की कक्षाओं को भी शुरू किया जाएगा
स्कूल प्रबंधन के मुताबिक, हर दिन रोटेशन से क्लास लगाई जाएंगी. पहले दिन 35 छात्रों को बुलाया गया है. अगले दिन ग्यारहवीं के छात्रों को बुलाया जाएगा. धीरे धीरे हालात सामान्य होंगे और सरकार के जो आदेश होंगे उसके तहत कक्षाएं संचालित होंगी. राजधानी के ज्यादातर सरकारी स्कूल आज खोले गए. हालांकि, छात्र अपने ही संसाधन से स्कूलों में पहुंचे, क्योंकि फिलहाल बस का संचालन बंद है. 12वीं के बाद हाईस्कूल की भी कक्षाएं लगाने की तैयारी है. सरकार की कोशिश है कि यदि 12वीं की कक्षाएं सामान्य रूप से संचालित होती हैं तो 5 अगस्त से हाई स्कूल की कक्षाओं को भी शुरू किया जाएगा.

LEAVE A REPLY