गंगा दशहरा :शुभ योग देवगुरु वक्री होकर कुम्भ राशि की ओर अग्रसर

0
6

4 RAMESH CHOURSIYA-ज्योतिर्विद रमेश चौरसिया
पौराणिक ग्रंथों के अनुसार ज्येष्ठ मास जीवन में जल के महत्व बताता है. इसीलिए ज्येष्ठ मास में गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी का व्रत महत्वपूर्ण माने गए हैं. ये दोनों ही पर्व जल के महत्व को बताते हैं. ज्येष्ठ मास में गर्मी अधिक पड़ती है. इस मास में सूर्य की किरणें पृथ्वी पर सीधी पड़ती है. दिन बड़ा और रातें छोटी होती हैं. । गंगा दशहरा के दिन गंगा में स्‍नान करने से परम पुण्‍य की प्राप्ति होती है। इस वर्ष यह पर्व 20 जून,2021 तदनुसार ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि दिन रविवार को मनाया जाएगा।
पौराणिक मान्यता के अनुसारइस दिन राजा भागीरथ के कठोर तप से प्रसन्न हो कर देवी गंगा धरती पर अवतरित हुईं थीं। धरती पर गंगा के अवतरित होने के खुशी में गंगा दशहरा मनाया जाता है।
वैसे तो हर दिन गंगा पूजन और स्नान के लिए घाट पर भक्तों की भीड़ लगी रहती है, लेकिन गंगा मां आराधना के लिए भी एक विशेष दिन होता है. वह दिन है ज्येष्ठ शुक्ल दशमी. इसी दिन हस्त नक्षत्र में गंगा स्वर्ग से धरती पर आई थी. ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की दशमी को संवत्सर का मुख कहा गया है. इस दिन दान और स्नान का अधिक महत्व है।
इस बार का गंगा दशहरा बेहद खास माना जा रहा है। इस दिन कई शुभ योग होने के साथ ही देवताओं के गुरु वक्री होने जा रहे हैं।इस बार *गंगा दशहरा 20 जून को है। इसी दिन गुरु शनि की राशि कुंभ में उल्‍टी चाल से चलने लगेंगे। गुरु ग्रह को बेहद शुभ प्रभाव प्रदान करने वाला ग्रह माना जाता है और गुरु की स्थिति मजबूत होने पर ही हमें धन-धान्‍य,सुख ,संतान,समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।गंगा दशहरा पर गुरु के वक्री होने से इस दिन धन वृद्धि के उपाय विशेष फलदायी सिद्ध हो सकते हैं। गंगा दशहरा पर पवित्र गंगा नदी में स्नान का वहुत महत्व है।पौराणिक मान्यताओं के अनुसार कहते है कि श्रद्धा पूर्वक गंगा नदी में स्नान करने से समस्त पाप कर्म समाप्त हो जाते है और पुण्य की प्राप्ति होती है।
कोरोना काल में घर पर करें स्नान
कोरोना संक्रमण के काल में यदि आप को गंगा नदी पर जाना संभव नही हो पा रहा है तोगंगा दशहरा पर घर में ही नहाने के पानी में गंगा जल मिला लें और उस पानी से स्नान और अचमन करें। स्नान के जल में गंगा जल की कुछ बूंदे ही डालने से पूरा जल गंगा जल समान हो जाता है।स्नान करते समय इस मंत्रका जाप करना चाहिए- गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती।नर्मदे सिन्धु कावेरी जले अस्मिन् सन्निधिम् कुरु।*।
या ॐ नमो गंगायै विश्वरूपिण्यै नारायण्यै नमो नमः।।
गंगा दशहरा मुहूर्त
दशमी तिथि आरंभ- 19 जून 2021 को शाम 06 बजकर 50 मिनट पर
दशमी तिथि समापन – 20 जून 2021 को सायं 4 वजकर 25 मिनट तक
गंगा दशहरा पर क्या दान करें
पुराणों में मान्यता है कि इस दिन दान-पुण्य करने का विशेष फल मिलता है। आमतौर पर किसी अन्य त्योहार पर दान इच्छा अनुसार किया जाता है, लेकिन गंगा दशहरा पर भीषण गर्मी होती है और दान में ऐसी ही चीजें दी जाती है जिससे गर्मी से राहत मिल सके। गंगा दशहरा पर गर्मी से बचाव वाली चीजें दान करें सत्तू,गुड़ पानी वाले फलों का दान विशेष रूप से करें। घड़ा, छाता,चप्पल, गमच्छा आदि का दान करना चाहिए।
कोरोना संक्रमण के कारण यदि आप गंगा दशहरा के दिन दान न कर सकें तो दान के नाम पर पैसे या चीजें निकाल कर रख दें और जब मौका मिले उसे दान कर दें। इस दान का लाभ गंगा दशहरे पर किए गए दान जैसा ही माना जाता है।संभव हो तो प्याऊ की व्यवस्था जरूर करनी चाहिए। बेघर लोगों के लिए छांव की व्यस्था करना विशेष पुण्य देने वाला माना गयाहै।

राशि अनुसार जातक को गंगा दशहरा के दिन क्या दान करना चाहिए?
मेष राशि- आपके लिए तिल और लाल व सफेद रंग के कपड़े दान करना शुभ रहेगा.
वृष राशि- आपको विशेषरूप से इस दिन गरीबों व ज़रूरतमन्दों को अन्न दान करना चाहिए.
मिथुन राशि- इस पावन दिन पर घर के या किसी मंदिर के बाहर पानी का निःशुल्क प्याऊ लगाना, आपके लिए अति शुभ फलदायक रहेगा.।
कर्क राशि- आपको इस दिन फलों व मीठी मिठाइयों का दान करना चाहिये।
सिंह राशि- आपके लिए अनाज, फल व तांबे से बने बर्तनों का दान करना शुभ रहेगा.
कन्या राशि- आपको इस दिन किसी पुजारी या पुरोहित को फलों, वस्त्रों व दक्षिणा देने की सलाह दी जाती है.
तुला राशि- तुला राशि वाले जातकों को इस दिन, किसी मंदिर के निर्माण में अपनी श्रद्धा अनुसार दान करना उचित रहेगा।
वृश्चिक राशि- आपको इस विशेष दिन शरबत या मीठे चावलों का दान करना चाहिए.
धनु राशि- गंगा दशहरा के दिन आपको बुजुर्गों को फलों का दान और इसके बाद उनका आशीर्वाद लेना चाहिए.
मकर राशि- आपके लिए इस दिन काले तिल व सरसों के तेल का दान करना उत्तम रहेगा.
कुंभ राशि- कुंभ राशि वाले जातकों को इस दिन गली के कुत्तों को रोटी खिलाना चाहिए मंदिर में अपनी क्षमता अनुसार रुपये पैसे दान करना चाहिए।
मीन राशि- आप लोग इस दिन, घर के बड़ों व गुरु तुल्य लोगों को किसी प्रकार का कोई उपहार दे सकते है और उनका आशीर्वाद लें।

LEAVE A REPLY