मप्र का ‘कोरोना मॉडल’ पूरे देश में लागू होगा, पीएम मोदी ने सराहा आइडिया

0
0

भोपाल।अजयभारत न्यूज
मध्य प्रदेश के कोरोना मॉडल को पूरे देश में लागू किया जा सकता है। सीएम शिवराज सिंह चौहान के आइडिया को पीएम नरेंद्र मोदी ने सराहा है। इस मॉडल से मध्यप्रदेश में पॉजिटिविटी रेट में तेजी से कमी आई है और रिकवरी रेट भी तेजी से बढ़ा रहा है।
गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कोरोना में एमपी लगातार सुधार की तरह बढ़ रहा है।सीएम शिवराज के आइडिया को पीएम मोदी ने सराहा है। इस मॉडल को देश में लागू करने की बात हो रही है। साउथ में भी इसी मॉडल को लागू किया जा सकता है। पॉजिविटी रेट लगातार घट रहा है। रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है। इसलिए कोरोना कर्फ्यू बहुत जल्द चरण बद्ध तरीके से खोला जाएगा।
इसलिए बेहतर है मध्यप्रदेश का मॉडल
नरोत्तम मिश्रा ने कहा मध्यप्रदेश में कोरोना की स्थिति में लगातार तेजी से सुधार हो रहा है।सरकार ने किल कोरोना अभियान चलाया, ऑक्सीजन सप्लाय किया। कोविड केयर सेंटर खोले, आयुष्मान योजना का लाभ दिया, रैपिड जांच और वैक्सीनेशन को तेजी से बढ़ाया, फीवर क्लीनिक खोले गए। साथ ही तमाम स्वास्थ सुविधाओं को आम जनता के लिए हर स्तर पर बढ़ाया गया। यही वजह है कि इतने कम समय में हालात कंट्रोल में आ गए। उन्होंने कहा गांव में कोरोना नियंत्रण के मध्यप्रदेश के मॉडल को केन्द्र और प्रधानमंत्री जी ने सराहा है। अब इसे देश के अन्य राज्यों में भी लागू किया जा रहा है।
आज के हालात
वर्तमान में मध्य प्रदेश का पॉजिटिविटी रेट मात्र 6.9 रह गया है। आज 5065 नए संक्रमित मरीज आए हैं जबकि 10 हजार 337 स्वस्थ होकर घर लौट गए। इंदौर और खरगोन के पॉजिटिविटी रेट में भी कमी आई है जो पिछले दिनों में काफी ज़्यादा थी। अस्पतालों में ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, बेड और समस्त चिकित्सा सुविधाओं के पर्याप्त इंतजाम हैं।
उमंग, तुलसी सिलावट पर बयान
मंत्री तुलसी सिलावट पर लगे आरोप पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा तुलसी सिलावट का ड्रायवर नहीं है वो एजेंसी का है। दूसरी बात तुलसी सिलावट को लेकर कांग्रेस के घाव अभी तक नही भरे हैं।कांग्रेस डर्टी पॉलिटिक्स खेलती है। उन्होंने उमंग सिंघार मामले पर कहा इस बारे में मुझसे ज्यादा कांग्रेस बता सकती है. कांग्रेस के नेता गृह विभाग के संपर्क में हैं।
—————————–कोरोना को लेकर अच्छी खबर——————————————
10 हफ्ते तक बढ़ने के बाद पिछले 2 सप्ताह में घटे पॉजिटिव केस, लेकिन 7 राज्य अब भी बढ़ा रहे चिंता
कम हो रहे केस ,सावधानी जरूरी
देश में कोरोना महामारी को लेकर अच्छी खबर है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि पॉजिटिव केस के मामले में लगातार 10 हफ्तों की बढ़ाेतरी के बाद पिछले 2 सप्ताह में कमी दर्ज की गई है। पिछले 7 दिनों में नए मरीजों में -3.82% की कमी आई है, जबकि मौतों का आंकड़ा 1.07% पर आ गया है। वहीं, 7 राज्यों में पॉजिटिविटी रेट 25% से अधिक है, जबकि 22 राज्यों में यह आंकड़ा 15% से अधिक है।
6 राज्यों में कम हो रहे नए मरीज, 7 राज्यों ने बढ़ाई चिंता
पिछले तीन सप्ताह में 6 राज्यों- महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, गुजरात और छत्तीसगढ़ में मरीजों की संख्या कम हुई है। वहीं, पिछले तीन हफ्तों में 7 राज्यों- तमिलनाडु, मेघालय, त्रिपुरा, मणिपुर, नगालैंड, सिक्किम और मिजोरम में पॉजिटिव केस बढ़ हैं।
रिकवरी रेट बढ़ी, कम हुए एक्टिव केस
अग्रवाल ने कहा है कि पिछले 24 घंटों में देशभर में 2,76,000 मामले दर्ज किए गए हैं। इसमें से 77% मामले 10 राज्यों से हैं। वहीं, कुल सक्रिय मामलों का 69% सिर्फ 8 राज्यों में हैं। 21 राज्य ऐसे हैं जहां रोजाना रिकवर मामलों की संख्या नए मामलों से ज्यादा है।अग्रवाल ने बताया कि देशभर में 3 मई को सक्रिय मामले 17.13% थे, वे अब 12.1% रह गए हैं। रिकवरी रेट 81.7% से बढ़कर 86.7% हो गई है। पिछले 10 दिनों में सक्रिय मामलों और रिकवर मामलों की तुलना करें तो 10 में से 9 दिनों को रिकवर मामले ज्यादा दर्ज किए गए।
———————————-लेकिन इधर, हरियाणा में ———————————————-गांव की बगावत, लॉकडाउन तोड़ने का ऐलान,मास्क भी नहीं लगाएंगे
जींद।हरियाणा में कोरोना के मामले अभी भी तेजी से बढ़ते दिख रहे रहे हैं और मौतें भी काफी हो रही हैं। बिगड़ती परिस्थिति की वजह से राज्य में सख्त पाबंदियां लागू हैं और सभी से घर में रहने की अपील की गई है। लेकिन अब इस कोरोना संकट के बीच हरियाणा के एक गांव ने लॉकडाउन का पालन ना करने का ऐलान कर दिया है। जोर देकर कहा गया है कि ना मास्क लगाया जाएगा और ना ही किसी गाइडलाइन का पालन होगा. ये घटना जींद के दनौदा गांव की बताई गई है।
आखिर ..ऐसा क्यों ?
गांव के ग्रामीणों का आरोप है कि जब राज्य के सीएम ही लॉकडाउन और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते हैं, ऐसे में वे भी अब किसी भी तरह की पाबंदी को नहीं मानने वाले हैं। कहा गया है कि आज के बाद से कोई लॉकडाउन का पालन नहीं करेगा।गांव में कोई मास्क नहीं लगाएगा और सभी दुकानों को भी खुलवा दिया है। उनका कहना है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री भी कोरोना के नियमों का पालन नहीं करते तो ग्रामीण भी नहीं करेंगे। पुलिस की तरफ से समझाने का प्रयास तो हुआ, लेकिन गांव वाले अपने ऐलान पर डटे रहे और उन्होंने जाम जैसी स्थिति पैदा कर दी। जो तस्वीरें सामने आई हैं उनमें भारी भीड़ भी देखने को मिल रही है और सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं हो रहा है।

LEAVE A REPLY