CRIME : सागरताल में मिली लाश

0
4

-2 दिन पहले संदिग्ध परिस्थितियों में हुई थी इलेक्ट्रीशियन की मौत
ग्वालियर। सागरताल में रविवार सुबह इलेक्ट्रीशियन की लाश मिली है। आज मिली लाश जिस युवक की है, उस पर इलेक्ट्रिशियन के परिजनों ने हत्या का संदेह जाहिर किया था। इसके चलते पुलिस भी उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी।
जानकारी के मुताबिक बहोड़ापुर थाना इलाके के सागरताल में रविवार सुबह एक युवक की लाश उतराती मिली है। राहगीरों ने पुलिस को खबर दी तो टीआई बहोड़ापुर राघवेन्द्र सिंह तोमर फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचे। यहां गोताखोर की मदद से लाश को ताल से बाहर निकाला गया। मृतक के कपड़ों की तलाशी ली तो उसमें आधार कार्ड व मोबाइल फोन मिला। इससे उसकी पहचान पूरन बाथम निवासी नारकोटिक्स आॅफिस कैम्पस के रुप में हुई। यहां बता दें कि दो दिन पहले सागरताल में पुलिस को ओमप्रकाश धाकड़ पुरानी छावनी की लाश मिली थी। पुलिस को जांच में सुराग लगा था कि बीते 11 मार्च से लापता ओमप्रकाश आखिरी बार पूरन के साथ देखा गया था। परिजनों का कहना था कि वह डीडी नगर में काम करने गया था। इसके बाद रात को 8.30 तक अपने दोस्त पूरन बाथम के साथ कलारी पर शराब पीते देखा गया था। पांच दिन बाद उसकी लाश सागरताल में मिली। पोस्टमार्टम में उसके सिर में चोट के निशान मिले है।
इससे आशंका जाहिर की गई है कि उसके साथ मारपीट की गई है, या फिर ताल में कूदने पर सिर में चोट आई है। इसके चलते परिजन का आरोप था कि ओमप्रकाश की हत्या पूरन ने की है। परिजन के आरोप के मुताबिक पुलिस ने भी पूरन की तलाश शुरु कर दी। बीते रोज पुलिस को पूरन का साला भी मिला था। पुलिस ने उससे भी पूरन के बारे में जानकारी जुटाई, लेकिन आज सुबह पूरन की लाश मिलने से पुलिस भी हैरान रह गई। पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर लिया है। इसके साथ ही दोनों सुसाइड में आपस में कनेक्शन जानने की कोशिश कर रही है।
—————————-
ओमप्रकाश के भाई की भी हो चुकी है मौत
ओमप्रकाश की शादी नहीं हुई थी। वह अपने भाई के परिवार के साथ ही रहता था। तीन साल पहले ओमप्रकाश के भाई की भी सड़क हादसे में मौत हो चुकी थी। इसके चलते वही परिवार का पालनहार था।
——————————
आपने कहा
आज सुबह पूरन बाथम की लाश सागरताल में मिली है। पूरन पर दो दिन पहले मृत मिले ओमप्रकाश के परिजन ने हत्या का आरोप लगाया था। हम दोनों ही मामलो में जांच कर रहे हैं।
– राघवेन्द्र सिंह तोमर, टीआई बहोड़ापुर
—————————————————————————————————-
किला तलहटी में मिला अधेड़ का शव
14 मार्च से घर से लापता था मृतक,
सुबह घूमने के लिए रोजाना जाते थे किले पर
ग्वालियर। सुबह-सुबह घर से घूमने के लिए जाने वाले एक अधेड़ का शव आज किला तलहटी में पड़ा मिला है जिसके बाद मौके पर पहंुची ग्वालियर थाने की पुलिस ने मृतक के परिजनों को बुला कर मृतक की पहचान कराई और मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू करदी है।
बताया गया है कि ग्वालियर कि किलागेट इलाके में रहने वाले पंचम अग्रवाल रोजना सुबह घर से किले पर घूमने के लिए जाते थे। विगत 14 मार्च को भी वे किले पर घूमने के लिए निकले थे लेकिन उसके बाद से घर वापस नहीं लौटे थे परिजनों ने मामले की जानकारी पुलिस को भी दी थी जिसके बाद पुलिस पंचम सिंह की तलाष कर रही थी और आज सुबह उनका शव किला तलहटी में पड़ा मिल गया।
————————————– और यहाँ फांसी —————————————————-
मालिक की प्रताड़ता ने संग युवक ने लगाई फांसी
आक्रोषित परिजनों ने एसपी आॅफिस का किया घेराव
ग्वालियर। पिछले डेढ़ साल से ग्वालियर के सिद्धेष्वर नगर में काम कर रहे एक युवक ने मालिक की प्रताडना से तंग आकर आत्म हत्या कर ली घटना के बाद मृतक के परिजनों ने बड़ी संख्या में एसपी आॅफिस पहंुच कर यहंा घेराव कर दिया और आरोपी मालिक को जल्द से जल्द पकड़ने की मंाग की। इसके साथ ही एसपी बंगले पर भी ये लोग घेराव करने पहंुचे। वहीं परिस्थिति को देखते हुए यहंा बड़ी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद रहा।
ग्वालियर के आरौली गंाव का रहने वाला सुषील परिहार उम्र 26 वर्ष यहां सिद्धेष्वर नगर में रहनेवाले किसी मोहन गुर्जर के यहंा काम कर रहा था लेकिन यहंा मालिक द्वारा उसे लगातार प्रताडित किया जा रहा था इतना ही बताया गया है कि मालिक द्वारा सुषील को समय से पैसे भी नहीं दिए जाते थे एैसे में बीती रात उसने अपने कमरे मंे फंासी लगाकर आत्महत्या कर ली और सुबह जब यहंा लोगों ने उसे फंासी के फंदे पर लटके देखा तो मामले की सूचना उसके परिजनों को दी गई जिसके बाद यहंा बड़ी संख्या में जमा हुए मृतक के परिजन एसपी आॅफिस पहंुच गए और आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ने की मंाग को लेकर हंगामा कर दिया यहंा जब उन्हें एसपी के न होने की बात पता चली को हंगामा कर रहे लोगों ने एसपी बंगले की ओर भी रूख किया जिसके बाद मौके पर पहंुचे पुलिस के आला अधिकारियों ने कार्रवाई का आष्वासन दिया।

LEAVE A REPLY