HOLI: लड्डूओं की बरसात, पड़ेगी लठ्ठों की मार

0
7

बरसाना :बृह्मगिरि पर्वत पर स्थित लाड़लीजी मंदिर में शुक्रवार को लड्डू लीला का आयोजन किया जाएगा। इसमें टनों लड्डूओं की बारिश होगी। अगले दिन शनिवार को कृष्ण के सखाओं में लाठियों की मार पड़ेगी। देर शाम होली की द्वितीय चौपाई निकाली जाएगी। मंदिर सेवायतों ने लड्डू होली की सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं।
श्रीजी का धाम बरसाना एक बार फिर द्वापर युग में राधाकृष्ण के द्वारा खेली गई लीलाओं का साक्षी बनेगा। राधारानी मंदिर के सेवायत विष्णु गोस्वामी व उनके पुत्र प्रियाशरण गोस्वामी, ध्रुवेश गोस्वामी ने बताया कि राधा की सखी नंदगांव में नंदबाबा मंदिर में कृष्ण को होली का निमंत्रण देने जाएंगी। कृष्ण और उनके सखा होली के निमंत्रण को स्वीकार लेते हैं। उस खुशी में पांडे द्वारा खाने को दिए गए लड्डूओं को खाने के बजाय सखियों संग होली खेलने की खुशी में चहकने लग जाता है। उसी परंपरा को निभाने के लिए शुक्रवार की शाम को 5 बजे पांडे के रूप में सेवायत ध्रुवेश गोस्वामी और उसके दोनों भाई मंदिर के जगमोहन में समाज गायन के दौरान नाचेगा। इस दौरान श्रद्धालु पांडे के लिए भोग लगाने को दिए गए लड्डूओं को लुटाने लग जाते हैं। दर्शक अबीर-गुलाल की बारिश के मध्य एक-दूसरे को धक्का देकर प्रसादी लड्डू लूटने लग जाते हैं। अगले दिन 24 फरवरी को विश्व प्रसिद्ध लठामार होली का आयोजन किया जाएगा।
लड्डू होली में धन की वजह से परंपरा में हुआ परिवर्तन
बरसाना। करीब 200 वर्ष पहले नंदगांव से पांडे बरसाना आता था। उस समय लड्डू होली देखने के लिए मध्य प्रदेश के दतिया जिले के महाराज राधा रानी मंदिर में मौजूद थे। उस दौरान महाराज नृत्य और गुलाल की बरसात के मध्य लड्डूओं की बारिश से खुश हो गए। नाचने वाले पांडे को काफी धन दिया। जिसको देखकर बरसाना के सेवायतों के मन में लालच आ गया और अगली होली से नंदगांव के पांडे की जगह सेवायत ही पांडे बनकर नाचने लग गए। होली के दौरान जिस सेवायत की सेवा होती है, वह सेवायत ही पांडा बनकर नाचता है।
होली की मस्ती में डूबे रशियन व अमेरिकन
बरसाना। श्रीजी के धाम बरसाना स्थित राधारानी मंदिर में ब्रज दर्शनों को आए विदेशी मंदिर श्रद्धालुओं द्वारा खेली जा रही होली की मस्ती देखकर खुद को रोक नहीं सके। वह सभी एक-दूसरे को गुलाल लगाकर होली खेलने लगे। हरे रामा-हरे कृष्णा की नाम धुन पर नाचने लगे।
गुरुवार को होली का रंग गौड़ीय संप्रदाय की मंडली के साथ आए रशियन व अमेरिकन श्रद्धालु राधारानी मंदिर में श्रद्धालुओं द्वारा गुलाल उड़ाकर खेली जा रही होली से प्रभावित हो गए। सभी एक-दूसरे पर गुलाल डालकर होली खेलने लगे। रशिया से आए अभयनंद दास ने बताया कि राधारानी के धाम में आकर होली का अद्भुत आनंद मिलता है। इस दौरान विदेशी कपल मंदिर में गुलाल की होली खेलने के बाद सेल्फी लेते नजर आए।
लठामार होली की व्यवस्थाओं को अंतिम रूप देने में लगे विभाग
बरसाना। 23 फरवरी की लड्डू होली व 24 फरवरी की लठामार होली में सीएम आगमन को लेकर सभी विभागों के अधिकारी अंतिम रूप देने में लगे हैं। नगर पंचायत ने साफ सफाई, पानी की व्यवस्था, पार्किंग की व्यवस्था, बैरियरों की व्यवस्था की है। पीडब्ल्यूडी द्वारा हेलीपैड, मंच व्यवस्था के साथ रोड में बने गड्डों को भरवाया जा रहा है। सिंचाई विभाग की ओर से गोवर्धन ड्रेन की सफाई कराई जा रही है। विद्युत विभाग लाइट व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए जर्जर खंभों व तारों को बदलकर नए लगा रहा है।
स्वास्थ्य विभाग एक दर्जन जगह स्वास्थ्य शिविर लगाएगा
बरसाना। लठामार होली पर मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर प्रिया कुंड दुल्हन की तरह सजाने लगा है। इसके लिए कुंड की परिक्रमा मार्ग को पक्का कर सीसी रोड बनाया गया है। वहीं इस कुंड की रंगाई पुताई के साथ कुंड में स्वच्छ पानी भरने का काम किया जा रहा है। कुंड के पानी को आचमन लेने लायक बनाने के लिए ब्लीच पाउडर डाला जा रहा है।

LEAVE A REPLY