81 वीं अभा सिंधिया स्वर्ण कप स्पर्धा 14 से

0
5

ग्वालियर। नगर निगम ग्वालियर द्वारा प्रतिवर्ष आयोजित की जाने वाली 81 वीं अखिल भारतीय सिंधिया स्वर्णकप हॉकी प्रतियोगिता 14 फरवरी से 21 फरवरी तक जिला खेल परिसर कंपू के मैदान पर खेली जाएगी। यह हॉकी स्पर्धा देश की प्रतिष्ठित एवं ग्रेड वन स्पर्धा है। इसमें देश भर की नामी गिरामी टीमें भी हिस्सा ले रहीं हैं। उक्त जानकारी आज पत्रकारों को देते हुए महापौर विवेक नारायण शेजवलकर ,पार्षद सतीश बोहरे ने बताया कि हॉकी स्पर्धा के आयोजन की व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई है।

ये टीमें लेंगी हिस्सा
उन्होंने बताया कि इस स्पर्धा में भाग लेने वाली टीमों में पीएनबी दिल्ली, सेन्ट्रल रेलवे मुंबई, साउथ सेन्ट्रल रेलवे बिलासपुर, डब्ल्यूसीआर जबलपुर, एनसीआर इलाहबाद, छत्तीसगढ़ इलेवन, पंजाब पुलिस, एयर इंडिया, सांई उडीसा, एमपी एकेडमी भोपाल, एनई रेलवे गोरखपुर, सांई भोपाल , सेल उडीसा, सहित लगभग 22 टीमें एवं दो स्थानीय टीमें एलएनआईपीई एवं मध्यभारत संघ ग्वालियर भी भाग लेंगी।

यह है ईनाम राशि
उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में विजयी टीम को तीन लाख रूपए का नगद इनाम तथा उप विजेता को दो लाख रूपए का नगद इनाम दिया जाएगा। इसके अलावा खिलाडियों को व्यक्तिगत पुरस्कार भी दिये जाएगे। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता का मुख्य आकर्षण डे-नाइट फ्लड लाइट में मैच जिला खेल मैदान पर एस्ट्रोटर्फ मैदान पर होना है। फाइनल मैच का डीडी स्पोर्टस पर सीधा प्रसारण किया जाएगा।

महापौर करेंगे शुभारंभ
स्पर्धा कराने के लिए हॉकी इंडिया द्वारा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय एम्पायर नियुक्त किये हैं। इस प्रतियोगिता का उदघाटन मैच यूपी हॉस्टल लखनऊ तथा मध्यभारत हॉकी संघ के बीच होगा। प्रतियोगिता का शुभारंभ महापौर विवेक शेजवलकर करेंगे। इस अवसर पर सभापति राकेश माहौर , खेल प्रभारी सतीश बोहरे अन्य पार्षदगण मौजूद रहेंगे। उल्लेखनीय है कि अखिल भारतीय सिंधिया स्वर्ण कप स्पर्धा की शुरूआत ग्वालियर के तत्कालीन महाराज माधवराव सिंधिया ने 1923 में की थी। 1925 में इसे राष्ट्रीय स्तर का दर्जा मिला। 1946- 47 तक स्पर्धा अनवरत जारी रही। उसके बाद 1960 में इस प्रतियोगिता को नगर पालिका ने कराने का दायित्व संम्हाला। उसके बाद से नगर निगम अब इस स्पर्धा को आयोजित कर रहा है। पत्रकार वार्ता मेें पार्षद दिनेश दीक्षित , बाबूलाल चौरसिया, मध्यभारत हॉकी संघ के सचिव आशीष अग्रवाल , खेल अधिकारी ब्रजकिशोर आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY