ग्वालियर : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, समाज के लिए आदर्श प्रस्तुत कर रहे हैं दिव्यांग

0
8

-ग्वालियर में दिव्यांग एवं वृद्धजन के सहायतार्थ मेगा शिविर आयोजित
-4271 दिव्यांग व वृद्धजनों को 8108 कत्रिम अंग व सहायक उपकरण वितरित हुए
-रवि शेखर
ग्वालियर:राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जीवाजी यूनिविर्सिटी में आयोजित दिव्यांगजन व वृद्धजन सहायतार्थ शिविर में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि दिव्यांगजनों को सरकारी नौकरी से काफी सहायता मिलती है। अब उनका आरक्षण 3 से 4 प्रतिशत कर दिया गया है. कुछ दिव्यांग नौकरी देते हैं वो समाज एवं दिव्यांगों के लिए आद्दर्श प्रस्तुत कर रहे हैं।
राष्ट्रपति ने कहा कि हमारे यहां पुरातन काल से वर्तमान युग तक ऐसे कई उदाहरण है जिन्होंने अपनी दिव्यांगता को ताकत में बदल दिया।उन्होंने कहा कि हर दिव्यांग के पास कोई ना कोई ईश्वरीय ताकत विशेष रूप से मौजूद रहती है जरूरत इस बात की है कि हम अपनी ताकत को पहचाने और उसे अपना संबल बनाएं।
उन्होंने कहा कि चाहे केंद्र सरकार हो चाहे केंद्र सरकार हो अथवा राज्य सरकारें अथवा राज्य सरकारें सभी का एक ही मकसद है कि दिव्यांग कोई ना बचे सभी को मदद पहुंचे और वे अपनी दिव्यांगता को मजबूती से ताकत में बदलें उन्होंने कहा कि सरकारें इसके लिए विशेष प्रशिक्षण पुनर्वास और नौकरियों से उन्हें लाभान्वित कर रही हैं। उन्होंने दिव्यांगों से अपनी प्रतिभा निखारने का आग्रह किया, सहायक उपकरणों को सहारा नहीं बनाएं। राष्ट्रपति ने दिव्यांगों के लिए बेहतरीन काम करने पर हरियाणा रेड क्रॉस सोसाइटी मध्य प्रदेश सरकार और सामाजिक न्याय मंत्री गहलोत की प्रशंसा की।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंच से प्रतीक स्वरूप 10 हितग्राहियों को सहायक उपकरण वितरित किए। ग्वालियर जिले में चलाए जा रहे दिव्यांग मित्र अभियान के तहत जिला प्रशासन, रेडक्रॉस सोसाइटी हरियाणा और एलिम्को (कृत्रिम अंग निर्माण निगम) की संयुक्त भागीदारी से आयोजित किया गया । शिविर में 4 हजार 271 दिव्यांग व वरिष्ठ नागरिकों को 8 हजार 108 सहायक उपकरण व कृत्रिम अंग बांटे गए ।
कार्यक्रम के दौरान बारिश होने पर हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी ने कहा कि इंद्रदेव ने भी महामहिम का स्वागत किया है।

ग्वालियर की तर्ज पर पूरे प्रदेश में चलेगा दिव्यांग मित्र अभियान: मुख्यमंत्री चौहान
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रसन्नता का विषय है कि पण्डित दीनदयाल उपाध्याय की भावनाओं के अनुरूप ग्वालियर में दिव्यांग व वरिष्ठजनों के लिये मेगा शिविर के रूप में अदभुत कार्यक्रम हुआ है। इस आयोजन में सहायक उपकरण वितरण के साथ-साथ 1400 दिव्यांगों को स्वरोजगार, रोजगार व नौकरी देने का काम भी किया गया है। उन्होंने इस आयोजन की सराहना करते हुए कहा कि ग्वालियर जिले में चलाए जा रहे दिव्यांग अभियान की तर्ज पर पूरे प्रदेश में दिव्यांगों के कल्याण के लिये अभियान चलाया जाएगा। श्री चौहान ने कहा हमारे थोड़े से सहयोग से दिव्यांग भी विभिन्न क्षेत्रों में नए प्रतिमान गढ़ सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में एक लाख 67 हजार दिव्यांगों के यूनिक आईडी कार्ड जारी किए गए हैं। सरकार दिव्यांग विवाह पर 2 लाख की सम्मान राशि देती है। प्रदेश के 4 लाख दिव्यांगों के खातों में एक क्लिक से राशि पहुंचाई जाती है। सरकार प्रतिमाह 500 रूपए की दिव्यांग पेंशन दे रही है।
ये रहे साथ
इस अवसर पर मध्यप्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी, केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत, केन्द्रीय पंचायतीराज एवं ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्रीमती माया सिंह और उच्च शिक्षा एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री जयभान सिंह पवैया बतौर विशिष्ट अतिथि मंचासीन थे। समारोह में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधिगण तथा केन्द्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग की सचिव श्रीमती शकुंतला डी गैमलिन, संयुक्त सचिव डॉ. प्रबोध सेठ, संभाग आयुक्त बी एम शर्मा, सीएमडी एलिम्को डी आर सरीन, आईजी अंशुमन यादव व कलेक्टर राहुल जैन सहित बड़ी संख्या में दिव्यांगजन, वरिष्ठसजन एवं गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

LEAVE A REPLY