Z प्लस सिक्योरिटी के सवाल पर नीतीश कुमार ने खोया आपा, कहा- बकवास ना करें

0
2

पटना :बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को हाल ही में केंद्र सरकार के द्वारा जेड प्लस सुरक्षा मुहैया करवाई गई है और दिल्ली में रहने के लिए एक आलीशान बंगला भी उनके नाम पर आवंटित हो चुका है, मगर इसको लेकर पत्रकारों ने जब सोमवार को नीतीश से सवाल पूछे तो मुख्यमंत्री बिफर उठे.
जेड प्लस सुरक्षा पर उठाए गए सवाल
दरअसल, अपने साप्ताहिक लोक संवाद कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री का प्रेस कॉन्फ्रेंस हुआ. इसी प्रेस कांफ्रेंस के दौरान पत्रकारों ने नीतीश से उन्हें मिली जेड प्लस सुरक्षा को लेकर सवाल पूछा कि आखिर जब 12 साल तक मुख्यमंत्री रहते हुए उन्हें जब इतनी ज्यादा सुरक्षा की जरूरत नहीं पड़ी तो आखिर अब ऐसा क्या हो गया कि उन्हें इतनी सुरक्षा की जरूरत पड़ गई?
‘बकवास करना बंद करें पत्रकार’
इस सवाल को सुनते ही नीतीश कुमार ने अपना आपा खो दिया और पत्रकारों को हिदायत दी कि वह कुछ मैच्योरिटी दिखाएं और बकवास करना बंद करें. नीतीश ने कहा कि किसी राज्य के मुख्यमंत्री की सुरक्षा को लेकर पत्रकारों को ऐसी हल्की बातें नहीं करनी चाहिए.
सीएम के तौर पर मिली सुरक्षा
नीतीश ने कहा कि उन्हें कभी भी खुद के लिए जेड प्लस सुरक्षा की चाहत नहीं रही है, ना ही कभी उन्होंने इसकी मांग की है क्योंकि इस पर फैसला लेना उनके अधिकार क्षेत्र से बाहर है. नीतीश ने कहा कि वह एक राज्य के मुख्यमंत्री हैं और मुख्यमंत्री को सुरक्षा प्रदान करना राज्य सरकार का काम होता है. नीतीश ने कहा कि उन्हें जो जेड प्लस सुरक्षा मिली है वह उन्हें निजी तौर पर नहीं है बल्कि बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर मिली है.नीतीश ने कहा कि पत्रकारों को ऐसे सवाल पूछने से पहले अपना होमवर्क करके आना चाहिए. नीतीश से एक पत्रकार ने सवाल पूछ लिया था कि क्या उन्हें अब डर लगने लगा है जिसकी वजह से उन्होंने 12 साल के बाद अब जेड प्लस सुरक्षा की जरूरत पड़गई?
दिल्ली में मिले बंगले पर क्या बोले सीएम नीतीश?
केंद्र सरकार के द्वारा नीतीश को दिल्ली में 6K, कामराज लेन आलीशान बंगला आवंटित होने की खबरों को भी मुख्यमंत्री ने ज्यादा अहमियत नहीं देते हुए कहा कि वह बंगला नीतीश कुमार को निजी तौर पर नहीं बल्कि बिहार के मुख्यमंत्री और बिहार सरकार को आवंटित किया गया है.
खारिज की राज्यसभा जाने की खबर
नीतीश ने इन खबरों को भी खारिज किया कि बंगला मिलने के पीछे वजह यह हो सकती है कि वह अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय राजनीति में एक बार फिर लौटेंगे और दिल्ली में ही प्रवास करेंगे. नीतीश ने इन खबरों को भी खारिज किया कि वह और BJP नेता सुशील मोदी अगले महीने होने वाले राज्यसभा चुनाव लड़ेंगे और राज्यसभा में जाएंगे.
‘टारगेट कर रहा विपक्ष’
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब से उन्होंने महागठबंधन से अलग होकर BJP के साथ सरकार बनाई है, तब से आरजेडी और कांग्रेस के नेता उनको टारगेट कर रहे हैं और जेड प्लस सुरक्षा और दिल्ली के बंगले को लेकर हाय-तौबा मचा रहे हैं.

LEAVE A REPLY