दिल्ली: अंकित के पिता ने की शांति की अपील, कहा- मुझे किसी धर्म से नफरत नहीं

0
5

नई दिल्ली: देश की राजधानी में अंकित सक्सेना नाम के एक नौजवान को बीच सड़क पर सरेआम गला काटकर मार दिया गया. अंकित का गुनाह सिर्फ इतना था कि उसने सलीमा नाम की एक लड़की से प्यार किया था. इसलिए सलीमा के घरवालों ने अंकित का बेरहमी से कत्ल कर दिया. इस कत्ल को लेकर माहौल काफी गर्म है.
मृतक अंतिक के पिता ने अपील की है कि इस मामले को सांप्रदायिक रंग ना दिया जाए. बीजेपी सांसद मनोज तिवारी शनिवार शाम को मृतक के परिजनों से मुलाकात की. अंकित सक्सेना के पिता ने मनोज तिवारी से कहा कि उन्हें इंसाफ चाहिए. किसी धर्म से उन्हें नफरत नहीं है.
अंकित के पिता ने मनोज तिवारी से कहा कि उन्हें इंसाफ चाहिए। किसी धर्म से उन्हें नफरत नहीं है। यहां कुछ लोग हमसे बात करते हैं लेकिन उसे मज़हब से जोड़कर दिखा रहे हैं। परिवार कह रहा है जो भी जुड़े दिल से जुड़े फ़ोटो ना खिंचवाएं। आप भी आएं तो इंसाफ के लिए हो किसी और चीज़ के लिए नहीं।
अंकित के पिता ने कहा कि यहां कुछ लोग हमसे बात करते हैं लेकिन उसे मज़हब से जोड़कर दिखा रहे हैं. अंकित के एक रिश्तेदार ने कहा कि हमें इंसाफ चाहिए. अगर कोई जुड़ना चाहता है तो दिल से जुड़े अगर फ़ोटो खिंचवाने आ रहा है तो हम अपनी लड़ाई खुद लड़ लेंगे.
मामले पर शुरू हुई राजनीति
इस पूरे मामले ने राजनीतिक रंग लेना शुरू कर दिया है. मृतक के परिजनों से मिलने वाले बीजेपी सांसद और दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सीएम केजरीवाल से एक करोड़ मुआवजा देने की मांग की. इसके साथ ही आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने अंकित की मौत को अखलाख की मौत से जोड़कर सीएम केजरीवाल की चुप्पी पर सवाल उठाए.

LEAVE A REPLY