रचा इतिहास : भारत ने आस्ट्रेलिया को हराकर रिकार्ड चौथी बार अंडर -19 विश्व कप जीता

0
4
India's team poses to celebrate their victory in the U19 cricket World Cup final match between India and Australia at Bay Oval in Mount Maunganui on February 3, 2018. / AFP PHOTO / Marty MELVILLE (Photo credit should read MARTY MELVILLE/AFP/Getty Images)

-ऑस्ट्रेलिया को दी 8 विकेट से करारी मात
नई दिल्ली: मनजोत कालरा के धमाकेदार शतक से अंडर-19 वर्ल्डकप के फाइनल मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से करारी मात दी. इस जीत के साथ ही भारत चार बार अंडर-19 वर्ल्डकप जीतने वाली टीम बन गई है.
इससे पहले भारतीय गेंदबाजों ने उम्दा प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया को 216 रन पर समेट दिया.लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत ने सिर्फ दो विकेट खोकर 38.5 ओवर में इसे हासिल कर लिया.
भारत की ओर से मनजोत ने 102 गेंद में नाबाद 101 रन बनाये जबकि कप्तान पृथ्वी शॉ और टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने वाले शुभमान गिल आज जल्दी आउट हो गए थे. भारत ने चौथा खिताब जीतकर ऑस्ट्रेलिया को पछाड़ा जिसके नाम तीन बार वर्ल्डकप जीतने का रिकॉर्ड है.
टीम का यह प्रर्दशन प्रदर्शन कोच द्रविड़ को भी शानदार तोहफा रहा जिन्हें आखिरकार विश्व कप ट्रॉफी अपने नाम करने का मौका मिला. दो साल पहले बांग्लादेश में टीम उपविजेता रही थी. भारत ने छह साल पहले उन्मुक्त चंद की अगुवाई में यह खिताब जीता था जबकि विराट कोहली ने 2008 और मोहम्मद कैफ ने 2000 में खिताबी जीत दिलाई थी.
इस बार भारत शुरू ही से प्रबल दावेदार माना जा रहा था और प्रदर्शन भी उसी तरह का रहा. दूसरी टीमों और भारत के प्रदर्शन में जमीन आसमान का अंतर था. पृथ्वी शॉ (29) और शुभमन गिल (31) के विकेट जल्दी गंवाने के बाद हार्विक देसाई (नाबाद 47) और कालरा ने 86 रन की साझेदारी करके टीम को जीत तक पहुंचाया.
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में 86 रन बनाने वाले कालरा ने एक बार फिर उम्दा पारी खेली. उसने अपनी पारी में आठ चौके और तीन छक्के लगाये. इससे पहले जोनाथन मेरलो के 76 रन के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई टीम भारतीय स्पिनरों शिवा सिंह और अनुकूल रॉय का सामना नहीं कर सकी और 216 रन पर आउट हो गई.
एक समय ऑस्ट्रेलिया के चार विकेट पर 183 रन थे और वह 250 रन की ओर बढती नजर आ रही थी. इसके बाद भारतीय स्पिनरों ने ताबड़तोड़ विकेट लेकर उसके मंसूबों पर पानी फेर दिया. जेसन संघा की टीम ने आखिरी छह विकेट 33 रन पर गंवा दिये.
ऑस्ट्रेलिया ने इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन उसके बल्लेबाज अच्छी शुरूआत को बड़ी पारियों में नहीं बदल सके. मेरलो और परम उप्पल ( 34 ) ने चौथे विकेटके लिये 75 रन की साझेदारी की . इसके बाद मेरलो ने नाथन मैकस्वीनी (23) के साथ 49 रन जोड़े.
शिवा ने मैकस्वीनी का रिटर्न कैच लेकर ऑस्ट्रेलिया पर दबाव बना दिया. उस समय स्कोर पांच विकेट पर 183 रन था. इससे पहले राय ने उप्पल को रिटर्न कैच लेकर पवेलियन भेजा. भारतीय स्पिनरों ने बीच के ओवरों में रनगति पर अंकुश लगाये रखा.
ओपनर बल्लेबाज जैक एडवडर्स (28) और मैक्स ब्रायंट (14) टिक नहीं सके. तेज गेंदबाज ईशान पोरेल ने दोनों बल्लेबाजों को उछाल लेती गेंद पर कवर में लपकवाया. इस टूर्नामेंट की एक और खोज कमलेश नागरकोटी ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान संघा (13) समेत दो विकेट लिये. वहीं शिवम मावी को एक विकेट मिला.

LEAVE A REPLY