कासगंज हिंसा में पहली कार्रवाई, SP हटाए गए, राज्यपाल ने हिंसा को UP के लिए कलंक बताया

0
6

नई दिल्ली: कासगंज हिंसा को लेकर योगी सरकार ने पहली कार्रवाई की है. कासगंज के एसपी सुनील सिंह को हटा दिया गया है. अब उनकी जगह पीयूष श्रीवास्तव को कासगंज का नया एसपी बनाया गया है. यूपी के कासगंज की घटना पर राज्यपाल राम नाईक ने कहा है कि ये घटना यूपी पर कलंक है.
बता दें कि गणतंत्र दिवस पर कासगंज के बड्डूनगर में मोटरसाइकिल रैली निकाले जाने के दौरान दोनों पक्षों के बीच पथराव और गोलीबारी हुई थी. इसमें एक युवक की मौत हो गयी थी और एक अन्य जख्मी हो गया था. उपद्रवियों ने तीन दुकानों, दो निजी बसों और एक कार को आग के हवाले कर दिया था.
हिंसा और आगजनी के आरोप में गिरफ्तार लोगों ने साजिश का खुलासा किया है. सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में पता चला है कि साजिश के तहत मामला गर्म रखने के लिए आगजनी की छोटी छोटी घटनाएं लगातार जारी रखी गईं. साथ ही गिरफ्तार लोगों का दावा है कि चंदन की हत्या का बदला लेने का प्लान था.
मारे गए युवक चंदन की हत्या के मामले पुलिस ने अब तक 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. चंदन की हत्या में पुलिस ने 20 लोगों को मनामजद अभियुक्त भी बनाया है. इलाके में शांति अभी तक नहीं लौट पाई है. बीती रात तीन जगहों पर आगजनी की घटना सामने आई हैं.
रात 8 बजे पीएलजीसी कालोनी में सिंचाई विभाग के एक क्वार्टर में आग लगा दी गई. इस घटना के बारे में पड़ोसी बता रहे हैं कि रविवार सुबह ही इस घर में रहने वाले शख्स डर की वजह से पुलिस सुरक्षा में यहां से चले गए थे.
वहीं दूसरी तरफ पुलिस दावा कर रही है कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और हालात पर पुलिस पूरी तरह नजर बनाये हुए है. हालात सुधारने के उपायों पर चर्चा के लिये रविवार शांति समिति की बैठक हुई. हालांकि रविवार सुबह को शहर के नदरई गेट इलाके के बाकनेर पुल के पास एक गुमटी में आग लगा दी.

LEAVE A REPLY