यशोधरा बोली जब अपेक्षा नही हो तो उपेक्षा महसूस नही होती

0
15

ग्वालियर । शिवराज सिंह की काबीना की खेलमंत्री और शिवपुरी से विधायक यशोधरा राजे सिंधिया के कोलारस उप चुनाव में भाजपा के लिए प्रचार अभियान में शामिल होने पर अभी भी सस्पेंस बरकरार है । उन्होंने गुरूवार को ग्वालियर में मीडिया से कहाकि वे पारिवारिक चीजो से कोलारस नही गयीं हालांकि उन्होंने कहाकि वे वहां जाएंगी ।
कोलारस में उप चुनाव होना है । वहां नामांकन की तिथि घोषित हो गई है । यह इलाका सिंधिया परिवार के प्रभाव का माना जाता है । इस सीट पर सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है । भाजपा और मुख्यमंत्री ने इस सीट को कांग्रेस से छीनने के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है लेकिन खेलमंत्री अभी तक यहां नही पहुंची है ।
मुख्यमंत्री और उनके बीच सबकुछ ठीकठाक नही चल रहा ऐसी चर्चाएं भाजपा गलियारों में है । इनको हवा तब लगी जब परसों सरकार ने गणतंत्र दिवस के मौके पर मंत्रियों को जिले आवंटित किए लेकिन सूची से सिर्फ यशोधरा राजे का नाम गायब था । हालांकि इस पर सफाई देते हुए यशोधरा ने कहाकि ऐसा स्वास्थ्य कारणों से हुआ है ।
पार्टी में अपनी उपेक्षा को लेकर यशोधरा बोलीं तो कुछ नहीं लेकिन इसका दर्द उनके चेहरे पर साफ नजर आया । अपनी मां और भाजपा की राष्ट्रीय नेता राजमाता विजयाराजे सिंधिया की स्मृति में आयोजित श्रद्धांजलि समारोह में शिरकत करने आईं यशोधरा राजे बोलीं – जो व्यक्तित्व हमारे सामने है । राजमाता जी का नाम लेते है । उनके द्वारा जो किया गया उसे भूल नही सकते । उन्होंने संगठन को वसुधेव कुटुम्बकम की तरह सींचा । उसे खड़ा किया । विस्तार दिया । वह कैसे संबरे। उसे कैसे आगे बढ़ाएं ।
उन्होंने पीड़ा को शब्द देते हुए कहा -पीढ़ियां नई आती है । पुरानी पीढियां याद करतीं है लेकिन नई पीढ़ी को योगदान बताने की जिम्मेदारी हमारी है । नई पीढ़ी को हमे सिखाना है ,कि पुराने लोगो का क्या योगदान और मार्गदर्शन महत्वपूर्ण है ।
पार्टी द्वारा इग्नोर करने के मामले पर भी वे सीधे नही बोली । उन्होंने कहाकि व्यक्ति इग्नोर तब महसूस करता है जब आपकी कोई ख्वाहिश हो । मैं कोई अपेक्षा ही नही करती तो उपेक्षा की बात नही आती । मैं एक कार्यकर्ता हूँ और कोई उपेक्षा महसूस नही कर रही हूँ ।

LEAVE A REPLY