श्री रामकथा …:मां कनकेश्वरी ने कहा-ग्वालियर का भविष्य सुंदर होनेवाला है

0
3

ग्वालियर : मुरार के श्रीराम लीला मैदान में चल रही श्रीराम कथा के छटवें दिन ‘निरंजन रुपा, जय गुरुदेवा’ गुरुवंदना से शुरुआत करते हुए दोहा- ‘श्री गुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकरु सुधारि।
कथा की शरुआत में राष्ट्र संत कनकेश्वरी जी ने कहा कि-आज प्रातः मुरार के लालटिपारा स्थित गौशालाजाकर देखी, मन प्रफुल्लित हो गया। वहां पर लगभग साढ़े पांच हजार गाय और नंदी हैं।हमारे पुराणों में गौ सेवा की महिमा का उल्लेख है।गायों की सेवा करना हमारे शास्त्रों में भी लिखा है।गायों की सेवा न करनेवाला धरमात्मा नहीं हो सकता। मैं ग्वालियर के नागरिकों से अपील करती हूं कि वे इस गौशाला जाकर गाय माता के दर्शन करें। मैं विश्वास के साथ कह सकती हूँ कि ग्वालियर का भविष्य बहुत सुंदर होनेवाला है।

जगतगुरु बनने का शंखनाद
शंख बजाने में विश्व कीर्तिमान बनाने के लिए प्रयत्नशील विक्रम राणा द्धारा देर तक शंख बजाने का प्रदर्शन किये जाने पर उसकी प्रशंसा करते हुए माँ ने कहा-हमारा देश फिर जगतगुरु बनेगा, इसका शंखनाद आज ग्वालियर से हो गया है श्रद्धालु श्रोताओं ने करतल ध्वनि कर माँ की घोषणा/विचार का सम्मान-स्वागत किया।
माँ कनकेश्वरी जी ने कहा-गाधि के पुत्र विश्वामित्र जी राजा दशरथ के पास जाकर कहा-‘हे राजन्!राक्षसों के समूह मुझे बहुत सताते हैं, इसलिए छोटे भाई सहित श्री रघुनाथ जी को मुझे दे दो।राक्षसों के मारे जाने पर मैं सुरक्षित हो जाऊंगा. विश्वामित्र जी और राजा दशरथ के बीच लंबे संवाद के बाद दशरथ जी ने-
‘सौंपे भूप रिषिहि सुत बहुबिधि देइ असीस ।
जननी भलन गए प्रभु चले नाइ पद सीस।।
राजा ने अनेकानेक आशीर्वाद देकर पुत्रों को ऋषि को सौंप दिया।

इन्होंने किया पोथी पूजन
केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर की धर्मपत्नि किरण सिंह, पुत्रद्धय देवेन्द्र प्रताप सिंह ‘रामू’,प्रबल प्रताप सिंह ‘रघु’,भाई अजय प्रताप सिंह, बहिन मंजू सिंह, पं. बालकृष्ण शास्त्री, अशोक शर्मा,प्रो केशव गुर्जर, हाज़ी अफाक साहब, वरिष्ठ अधिवक्तागण डी के कटारे, जयप्रकाश मिश्र, केशव बघेल आदि ने पोथी पूजन, आरती कर कथा श्रवण की. समस्त कार्यवाहियों का संचालन महेश मुदगल ने किया।

LEAVE A REPLY