मंत्री पवैया के निवास पर प्रदर्शन ,कांग्रेसी गिरफ्तार

0
3

मामला : मुंगावली कॉलेज के प्राचार्य के निलंबन का विरोध करने पहुंचे कांग्रेसी
ग्वालियर : प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया के बंगले के बाहर प्रदर्षन कर रहे कांग्रेस अनुसूचित जाति -जनजाति के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने यहां से खदेड दिया बाद में इन नेताओं द्वारा गिरफ्तारी दी गई। आरोप है कि मुगावली मे दलित प्राचार्य को सिंधिया के कार्यक्रम मे जाने पर निलंबित किया था।
मुंगावली कॉलेज के प्राचार्य के निलंबन के मुद्दे ने शहर की सियासत को गरमा दिया है। इसके लिए प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया को जिम्मेदार मानते हुए कांग्रेस के दलित नेता झांसी रोड स्थित उनके बंगले ‘सेवाधाम’ का घेराव करने पहुंच गए, जहां पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इसके नाराज पार्टी के दीगर नेता मौके पर पहुंचकर धरने पर बैठ गए।

कांग्रेसी गिरफ्तार
मंत्री श्री पवैया के बंगले पर धरना देने अपने समर्थकों के साथ पहुंचे अनुसूचित जाति कांग्रेस के प्रदेश संयोजक पुरुषोत्तम बनौरिया सहित कई नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद कांग्रेस नेता मुन्नालाल गोयल, सुनील शर्मा और मितेन्द्र दर्शन सिंह मौके पर पहुंचकर धरने पर बैठ गए। गौरतलब है कि गुना-शिवपुरी से सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को महाविद्यालय में आमंत्रित करने पर दलित प्राचार्य को किया निलंबित किया गया है।

भाजपा का दोमुंहा चेहरा बेनकाब :कांग्रेस
कांग्रेस का कहना है कि इस घटना से भाजपा का दोमुंहा चेहरा बेनकाब हो गया है। सत्ता के मद में चूर प्रदेश सरकार ने तमाम नियम-कायदों को धता बताते हुए दलित प्राचार्य डॉ. बी एल अहिरवार को सिर्फ इसलिए निलंबित कर दिया कि उन्होंने अपने महाविद्यालय में स्थानीय सांसद को आमंत्रित कर लिया। पार्टी इस तरह की घटनाओं को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।

दलित विरोधी है पवैया
इस मामले को लेकर पूर्व विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर ने पवैया पर दलित विरोधी होने का आरोप लगाया है। तोमर ने कहा है कि सत्ता के घमंड में वे समाज में तानाशाही का माहौल बना रहे हैं। यदि एक दलित प्राचार्य किसी राजनेता को बुला रहा है तो उसे हटा देना कहां का न्याय है? कांग्रेस इस मामले में पूरे संभाग में विरोध करेगी।

LEAVE A REPLY