दीपावली पर सजा कैदियों का सुपरबाजार, गणेश प्रतिमाएं बनी आकर्षण का केंद्र

0
2

भोपाल : दीपावली को लेकर बाजारों की रौनक देखते ही बनती है. मार्केट में घर को सजाने का हर एक सामान अलग-अलग वैरायटी में उपलब्ध है. इन्हीं बाजारों की रौनक के बीच हम कैदियों के उस सुपरबाजार के बारे में आपको बताएंगे, जो खासतौर पर दीपावली को लेकर लगाया गया है. प्रदेशभर की जेलों में कैदियों द्वारा बने सजावटी सामान को भोपाल के इस सुपरबाजार में किफायती दामों पर बेचा जा रहा है.
राजधानी भोपाल में जेल मुख्यालय के ठीक सामने कैदियों का सुपरबाजार बनाया गया है. इस सुपरबाजार को खासतौर पर दीपावली को लेकर तैयार किया गया है. दूसरे मार्केट की तरह कैदियों के इस सुपरबाजार में घर को सजाने का हर एक सामान उपलब्ध है. प्रदेशभर की जेलों में बंद कैदियों ने दीपावली को लेकर खास लक्ष्मीजी की मूर्तियां, दीये, पेंटिंग, बेडशीट, लटकन, गमले की रिंग, कुशन और दूसरे सजावटी सामान तैयार किए हैं.
सुपरबाजार में कैदियों के इन सामानों को जेल के कान्हा ब्रांड के जरिए बेचा जा रहा है. सुपरबाजार में मूर्तियों, पेंटिंग और दीये की अलग-अलग रेंज है. 100 रुपए से लेकर सात हजार तक का सजावटी सामान उपलब्ध है. कैदियों ने लक्ष्मीजी की मूर्तियां और दीये काली और सफेद मिट्टी के बनाए हैं.
कैदियों के सुपरबाजार में गणेश जी की अष्टधातु से बनी मूर्ति आकर्षण का केंद्र है. मूर्ति की कीमत चार हजार सात सौ पचास रुपए रखी गई है. अलग-अलग पेंटिंग भी एक हजार से लेकर पांच हजार रुपए तक की है. लक्ष्मीजी के अलावा दूसरे भगवानों की मूर्तियां भी बनाई गई हैं. सजावटी सामान के लिए खास गमले के स्टेंड तैयार किए गए हैं. ऊन के आसन और बेडशीट की भी खासी रेंज मौजूद है. कैदियों ने अलग-अलग तरह की लटकन भी बनाई है.
आम दिनों में होने वाली बिक्री की तुलना में दीपावली के मद्देनजर कैदियों के सामान की बिक्री बढ़ी है. बीते साल सीजन में एक सप्ताह में पचास हजार के माल की बिक्री हुई थी. लेकिन इस बार सीमित स्टॉक होने के बावजूद दीपावली तक एक लाख का सामान बिकने की उम्मीद है.

LEAVE A REPLY