पेयजल संकट : पानी नहीं मिलने पर यहाँ करें शिकायत

0
7

-पेयजल व्यवस्था के मद्देनजर कंट्रोल रूम स्थापित
-कलेक्टर ने तत्परता से पेयजल समस्याओं का समाधान करने के दिए निर्देश
ग्वालियर : ग्रीष्म ऋतु के दौरान ग्रामीण अंचल में पेयजल व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के मकसद से कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं। लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभाग द्वारा जिला मुख्यालय पर यहाँ ठाठीपुर स्थित लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभाग के कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित कर जिम्मेदार अमले की ड्यूटी लगाई गई है। इसी तरह विकासखण्ड स्तर पर भी पेयजल कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। इन कंट्रोल रूम पर पेयजल संबंधी शिकायतें दर्ज कराई जा सकती हैं। कलेक्टर डॉ. संजय गोयल ने कंट्रोल रूम में प्राप्त होने वाली पेयजल समस्याओं का तत्परता से समाधान करने के निर्देश विभागीय अमले को दिए हैं।

यहां करें फोन
कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एस एल बाथम ने बताया कि जिला मुख्यालय पर स्थापित पेयजल कंट्रोल रूम का टेलीफोन नम्बर 0751-2231257 है। इसके अलावा कंट्रोल रूम में तैनात मुख्य तकनीशियन लवकुश सिंह के मोबाइल फोन नम्बर 99775-32490 और टेलीफोन अटेण्डर जगदीश नारायण भारती के मोबाइल फोन नम्बर 82691-80463 पर संपर्क कर पेयजल संबंधी शिकायतें दर्ज कराई जा सकती हैं।

घाटीगाँव
विकासखण्ड घाटीगाँव से संबंधित पेयजल संबंधी शिकायतें उपयंत्री जी एस माहौर के मोबाइल फोन नम्बर 94257-65423 और डबरा एवं भितरवार विकासखण्ड क्षेत्र की पेयजल से संबंधित शिकायतें प्रभारी सहायक यंत्री अरूण कुमार शर्मा के मोबाइल फोन नम्बर 88198-81606 पर दर्ज कराई जा सकती है।

नल-जल योजनायें चालू कराने के निर्देश
कलेक्टर डॉ. संजय गोयल ने जिले के ग्रामीण अंचल में बंद पड़ी नल-जल योजनाओं को ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के दौरान अभियान बतौर चालू कराने के निर्देश पीएचई के अमले को दिए हैं। उन्होंने कहा है कि पेयजल से संबंधित कार्य संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंच व सचिव से समन्वय स्थापित कर पंच परमेश्वर योजना की राशि से भी कराए जा सकते है। नल-जल योजनाओं के संधारण के लिये जिला पंचायत द्वारा 54 ग्राम पंचायतों को धनराशि मुहैया कराई गई है।

LEAVE A REPLY