4-0 : इंग्लैंड पर टीम इंडिया की सबसे बड़ी जीत, कोहली का कद बढ़ा ,पीछे छूटे धोनी

0
16

चेन्नई :चेन्नई में इंग्लैंड को एक पारी और 75 रन से हराकर टीम इंडिया ने सीरीज तो जीती ही, कई रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिए हैं. इंग्लैंड पर भारतीय टीम की क्रिकेट इतिहास की ये सबसे बड़ी जीत है. विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बना रही है.
इंग्लैंड का सीरीज में 4-0 से सफाया
भारतीय टीम ने दूसरी बार अपने मैदान पर 4-0 से किसी टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमाया है. इससे पहले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारत ने साल 2012-13 में ऑस्ट्रेलिया को 4-0 से मात दी थी. इसके अलावा भारतीय टीम ने मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में साल 1992-93 में इंग्लैंड को 3-0 से हराया था. फिर साल 1993-94 में अजहर की ही कप्तानी में श्रीलंका को 3-0 से मात दी थी. इससे पहले विराट कोहली की कप्तानी में भारत दो बार 3-0 से सीरीज जीत चुका है. विराट की टीम ने साल 2015-16 में साउथ अफ्रीका को और 2016-17 में न्यूजीलैंड को 3-0 से शिकस्त दी.
कैलेंडर ईयर में कोहली की कप्तानी में नौवीं जीत
टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज और कप्तान विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने एक कैलेंडर ईयर में रिकॉर्ड नौवीं जीत दर्ज की है. इस साल कोहली की कप्तानी में भारत ने 12 टेस्ट मैच खेले जिनमें 9 जीते और तीन ड्रॉ रहे. इसके बाद नंबर महेंद्र सिंह धोनी का आता है. धोनी की कप्तानी में साल 2010 में भारत ने 13 टेस्ट खेले थे. जिनमें सात में जीत, तीन में हार और तीन मुकाबले ड्रॉ रहे थे.
टीम इंडिया का लगातार 18 मैच न हारने का रिकॉर्ड
इस मुकाबले में जीत हासिल कर भारतीय टीम ने एक खास रिकॉर्ड भी बनाया है. कोहली की टीम ने अपनी जीतने की लय के रिकॉर्ड को 18 मैच तक बढ़ा दिया है और उन्होंने पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर ली है. गावस्कर की कप्तानी में भारत ने 24 जनवरी 1976 से लेकर 20 जनवरी 1980 तक 18 टेस्ट मैच खेले थे. जिनमें से एक में भी हार नहीं मिली थी. गावस्कर की कप्तानी में भारत ने 18 टेस्ट में से छह में जीत दर्ज की थी और 12 ड्रॉ रहे थे.
इंग्लैंड के खिलाफ पहली सीरीज जीतने में भारत को लगे थे 30 साल
इस सीरीज को मिलाकर भारत और इंग्लैंड के बीच अब तक 32 सीरीज खेली जा चुकी हैं, जिनमें से 18 सीरीज में इंग्लैंड जीती हैं, जबकि 10 सीरीज में टीम इंडिया, वहीं चार सीरीज ड्रॉ रही हैं. दोनों टीमों के बीच पहली टेस्ट सीरीज 1932 में हुई थी, जिसमे इंग्लैंड को जीत मिली थी. इंग्लैंड के खिलाफ अपनी पहली टेस्ट सीरीज जीतने के लिए भारत को 30 साल लगे थे. इंग्लैंड के खिलाफ भारत ने पहली टेस्ट सीरीज नरी कॉन्ट्रेक्टर की कप्तानी में 1962 में जीती थी. दोनों टीमों के बीच खेली गई पांच मैचों की इस टेस्ट सीरीज को भारत ने 2-0 से जीता था.
पांच टेस्ट मैच की सीरीज
दोनों टीमों के बीच अगर पांच या उससे ज्यादा की टेस्ट सीरीज की बात की जाए तो दोनों के बीच अब तक 10 बार सीरीज खेली गई है. जिनमें से चार बार इंग्लैंड और चार बार भारत को जीत हासिल हुई है और तीन सीरीज ड्रॉ रही हैं. पांच मैचों की सीरीज में भारत का सबसे अच्छा प्रदर्शन इससे पहले 1962 में रहा, जब भारत ने इंग्लैंड को 2-0 से हराया था. वहीं इंग्लैंड की बात की जाए, तो पांच टेस्ट की सीरीज में इंग्लैंड का सबसे अच्छा प्रदर्शन 1959 में था जब उसने भारत को 5-0 से हराया था. साला 1981 में गावस्कर की कप्तानी भारत और इंग्लैंड के बीच छह टेस्ट मैच की सीरीज खेली गई थी. जिसमें भारत ने एक मुकाबला जीता था और पांच मुकाबले ड्रॉ रहे थे.

LEAVE A REPLY