विश्व पर्यावरण दिवस…जिंदगी के हर मोड़ पर वृक्ष की अहम भूमिका: कुशवाह

0
2

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार कुशवाह एवं राज्य मंत्री भदौरिया ने दंदरौआ धाम में किया पौधारौपण
ग्वालियर।अजयभारत न्यूज
विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर राज्य के हरित क्षेत्र में वृद्धि कर प्रदेश के पर्यावरण को स्वच्छ रखने व प्रकृति को प्राणवायु से समृद्ध करने के उद्वेश्य से उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह एवं नगरीय विकास व आवास राज्य मंत्री ओपीएस भदौरिया ने दंदरौआ धाम में विभिन्न प्रजातियों के पौधे रोपे।
इस अवसर पर राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने कहा कि जैव-विविधता और इससे जुड़ी श्रृंखलाओं में संतुलन की महत्वपूर्ण कड़ी वनस्पति एवं वृक्ष हैं। जिंदगी के हर मोड़ पर वृक्ष की अहम भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि इंसान हो या पशु-पक्षी हर किसी को ऑक्सीजन की जरूरत होती है। बिना ऑक्सीजन के व्यक्ति एक क्षण भी नहीं जीवित रह सकता है। इसलिए ऑक्सीजन बनाने के लिए पौधों का होना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने स्वस्थ वातावरण के लिए सभी नागरिकों से पौधा लगाने एवं उसकी देखरेख की अपील की।राज्य मंत्री श्री भदौरिया ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर जिले के नागरिकों से अपील की है कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आज से प्रदेश में शुरू किये गये अंकुर कार्यक्रम के तहत कम से कम एक पौधा रोपित कर उसकी देखभाल करें और पर्यावरण संरक्षण में योगदान दें।
ऑनलाइन सेमिनार में राजदीप मित्रा को बेस्ट प्रेजेंटेशन का अवार्ड दिया गया
बच्चों को भी बताएं पेड़ों का महत्वः प्रो. शुक्ला
ग्वालियर।अजयभारत न्यूज
हमारे जीवन में पौधों का बड़ा महत्व है। बच्चों को बचपन से ही पर्यावरण से प्रेम की शिक्षा देनी चाहिए। यह पैरेंट्स का भी कर्तव्य है। वो जो देखेंगे वही सीखेंगे। उन्हें पेड़ों का महत्व बताएं। ग्लोबल वार्मिंग, प्रदूषण जैसी समस्याओं का बड़ा कारण पेड़ों की व्यापक पैमाने पर कटाई है। हम सबको पौधे लगाना चाहिए, लेकिन यह यहीं तक सीमित न रह जाए, बल्कि उन पौधों का पूरा ख्याल तब तक रखे, जब तक कि वे बड़े होकर पेड़ न बन जाएं। पर्यावरण की रद्वस यह बात जीवाजी विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला ने कही। वह विश्व पर्यावरण दिवस पर जेयू के हॉस्पिटल परिसर में पौधरोपण के दौरान बोल रही थीं। इस दौरान उन्होंने जेयू के शिक्षकों, अधिकारियों और हॉस्पिटल के डॉक्टर्स के साथ मिलकर करीब 40 से अधिक पौधों का रोपण किया।
इस अवसर पर जेयू के कुलाधिसचिव प्रो. उमेश होलानी, डीसीडीसी डॉ. केशव सिंह गुर्जर, डीएसडब्ल्यू प्रो. एसके द्विवेदी, प्रॉक्टर डॉ. हरेंद्र शर्मा, हॉस्पिटल के कोऑॅर्डिनेटर प्रो. जीबीकेएस प्रसाद, प्रो. अविनाश तिवारी, वाणिज्यिक विभाग के डीन प्रो. एसके सिंह, डॉ. शांंतदेव सिसोदिया, जगपाल यादव, डॉ. साधना श्रीवास्तव, डॉ. केके सिजोरिया, डॉ. मीनाक्षी पाल, डॉ. दीपमाला शर्मा और डॉ. अलका चौहान, डॉ. त्रिलोक चाहर, डॉ. हरेंद्र सिंह और डॉ. दिवाकर पाल मौजूद रहे।
पर्यावरण विज्ञान अध्ययन शाला में आयोजन हुआ
पर्यावरण विज्ञान अध्ययन शाला में पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में कई कार्यक्रमों का ऑनलाइन आयोजन किया गया, जिसमें छात्रों ने अपने निवास स्थान पर ऑनलाइन पौधारोपण एवं स्वच्छता अभियान आयोजित किया एवं इस वर्ष की थीम इकोसिस्टम रीस्टोरेशन के लिए शपथ ली ।
इस अवसर पर विभाग में ऑनलाइन प्रश्नोत्तरी एवं सेमिनार का भी आयोजन किया गया जिसमें छात्र-छात्राओं के साथ-साथ विषय विशेषज्ञों ने पारिस्थितिकी संग्रहण एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए अपने अपने विचार व्यक्त किए l विभागाध्यक्ष अध्यक्ष डॉ हरेंद्र शर्मा ने बताया कि पर्यावरण की गिरावट को रोकने के लिए दैनिक व्यवहार में पर्यावरण संरक्षण को अपनाने की आवश्यकता है तथा जैव विविधता एवं प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण से ही पारिस्थितिकी तंत्र एवं पर्यावरण को संग्रहित एवं संरक्षित जा सकता है l इस अवसर पर इंडियन साइंस कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष प्रो एम. जी. तिवारी ने भी छात्रों का मार्गदर्शन किया उन्होंने छात्रों को लव द नेचर लव द फॉरेस्ट का संदेश दिया कार्यक्रम में प्रो. आर.के. श्रीवास्तव जबलपुर, डॉ आर. एन. शर्मा डॉ रामबाबू, डॉ भावना सिकरवार, डॉ दीप्ति पांडे, सचिन आदि मौजूद थेलाइन प्रतियोगिता में विजय जोशी प्रथम ,राजदीप मित्रा द्वितीय, वर्षा भदोरिया एवं कृति कपूर का तृतीय स्थान रहा।

LEAVE A REPLY