Pariksha Pe Charcha 2021: ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम में छात्र पूछ रहे हैं मोदी सर से सवाल; परीक्षा से डरना नहीं चाहिए : पीएम

0
2

नई दिल्ली :प्रधानमंत्री मोदी देश भर के छात्रों से अपने लोकप्रिय कार्यक्रम परीक्षा पे चर्चा 2021 में ऑनलाइन इंटेरैक्शन के दौरान कर रहे हैं। छात्र और शिक्षक डिजिटल मोड में मोदी सर से सवाल पूछ रहे हैं। सवालों के जवाब में पीएम ने कहा, “परीक्षा को लेकर तनाव न लें। परीक्षा से डरना नहीं चाहिए। माता पिता को बच्चों पर परीक्षा को लेकर तनाव नहीं लेना चाहिए। बच्चों की सहज एवं तनावमुक्त रखना है।”
पिछले सालों की तरह इस साल भी पीएम मोदी अब से कुछ देर में छात्र-छात्राओं और अभिभावकों के साथ परीक्षा पे चर्चा कर रहे हैं। पीएम वीडियो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से स्टूडेंट्स को परीक्षा के दौरान होने वाले तनाव से बचने के टिप्स देंगे। इस संबंध में प्रधानमंत्री ने अपने ऑफिशियल ट्वीटर अकाउंट से ट्वीट करके जानकारी दी है।
बता दें कि प्रधानमंत्री ने ट्वीट के साथ ही, परीक्षा पे चर्चा के संबंध में एक वीडियो भी जारी किया है। प्रधानमंत्री के आधिकारिक ट्वीटर पेज पर जाकर इसे चेक कर सकते हैं। परीक्षा पे चर्चा 2021 के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 14 मार्च 2021 तक पूरी की गई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, परीक्षा पे चर्चा 2021 के लिए 12 लाख से अधिक रजिस्ट्रेशन हुए थे। जिनमें 9 लाख से अधिक छात्र, 2 लाख से अधिक शिक्षक और 1 लाख से अधिक अभिभावकों की संख्या थी। चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री से सवाल पूछने के लिए, प्रतियोगिता के माध्यम से छात्रों का चयन किया गया है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विजेताओं में से स्टूडेंट्स के एक छोटे ग्रुप को सीधे प्रधानमंत्री के साथ बातचीत करने और उनसे प्रश्न पूछने का मौका मिलेगा। वहीं, विजेताओं को प्रधानमंत्री के साथ उनकी ऑटोग्राफ की गई तस्वीर भी दी जाएगी। स्कूल व कॉलेज के स्टूडेंट्स के साथ प्रधानमंत्री के कार्यक्रम परीक्षा पे चर्चा 1.0 का आयोजन पहली बार 16 फरवरी, 2018 को तालकटोरा स्टेडियम में किया गया था। वर्ष 2021 में यह कार्यक्रम का चौथा संस्करण है।
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 फरवरी, 2021 को अपने रेडियो कार्यक्रम मन की बात के 74वें संस्करण को संबोधित किया था। इस दौरान प्रधानमंत्री ने युवा छात्रों की आगामी वार्षिक परीक्षाओं के संबंध में भी चर्चा की थी। प्रधानमंत्री ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा था कि आने वाले कुछ महीने छात्रों के लिए विशेष महत्व रखते हैं। छात्रों को चिंतित होने की बजाए, एक योद्धा की तरह परीक्षाओं की तैयारी करनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने छात्रों से कहा था कि उन्हें वॉरियर बनना है, वरीयर नहीं।

LEAVE A REPLY